प्रतिदिन सिर्फ एक लौंग खाएं और पाएं अनगिनत चमत्कारिक फायदे

कुदरत ने इंसानो को जड़ी बूटियों की ऐसी अनमोल संपदा दी है, जिसके फायदों के बारे में वह सोच भी नहीं सकता। लौंग भी कुरत की दी हुई उन्हीं औषधियों में से एक है। जिसमे बहुत सारे दुर्लभ और बेशकीमती गुण छुपे हुए हैं।

अगर आप सिर्फ रोज़ाना इसका सेवन अलग अलग तरीके से करें तो आपको कई तरह की बीमारियों से छुटकारा मिल जाएगा। लौंग एक बहुत छोटा सा फूल के आकार का होता है, जो लौंग के पेड़ से ही आता हैं। लौंग की हमारे भारतीय मसालों में मुख्य जगह है, इससे खाने को नया स्वाद और खुशबू मिलती हैं। लौंग खाने के अलावा औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाती हैं। छोटे से छोटे व बड़े बड़े रोगों को लौंग झट से ठीक कर देती हैं।

लौंग स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ लौंग के तेल में एंटीऑक्सीडेंट, रोग प्रतिरोधी, जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटीसेप्टिक, विरोधी भड़काऊ और एनाल्जेसिक आदि गुण होते है। आयुर्वेद व चीनी चिकित्सा में लौंग के सूखे फूल की कली, पत्ती व तने से तेल निकाला जाता है। इस तेल का प्रयोग दवाई के लिए होता हैं। लौंग, लौंग का पाउडर व लौंग का तेल ये सभी बाजार में आसानी से मिल जाता हैं। इन सभी चीजों के अलग अलग फायदे हैं।

आज हम आपको लौंग के फायदों के बारे में बताने जा रहें हैं। लेकिन पहले आपके लिए ये जानना बेहद ज़रूरी है कि किस तरह आप असली लौंग की पहचान करें, अक्सर देखा जाता है कि कई दुकानदार लौंग का तेल निकाल कर बेच देते है ऐसे लौंग की पहचान करना बहुत आसान है अगर लौंग में झुर्रिया पड़ी हो तो समझे कि यह तेल निकाली हुई लौंग है।

दांत दर्द में सबसे पहला, आसान व असरदार तरीका होता है लौंग व उसका तेल। लौंग में मौजूद तत्व दांत दर्द व मसूड़ों की सुजन को कम करते है इसके उपयोग से जल्दी से आराम मिलता हैं। इसके साथ ही ये इन्फेक्शन को फैलने से रोकता हैं। अगर आपके पास लौंग की पत्तियां है तो उसे दर्द वाले स्थान में दांतों के बीच दबा लें कुछ देर बाद अलग कर दें इससे जल्द आराम मिल जायेगा। साँस से आने वाली बदबू को लौंग के प्रयोग से दूर किया जा सकता है। लौंग मुंह में जो बैक्टीरिया दुर्गन्ध पैदा करते है, उसे मार देता हैं। ये इन्फेक्शन को दूर कर, मुंह के हर हिस्से को स्वस्थ रखता है। 1-2 लौंग को मुंह में रखकर कुछ देर चबाएं, दुर्गन्ध गायब हो जाएगी।

लौंग में यूजेनॉल होता है जो साइनस और दांत दर्द जैसी हेल्थ प्रॉब्लम को ठीक करने में मदद करता है। लौंग की तासीर गर्म होती है. इसलिए सर्दी-जुकाम होने पर लौंग खाएं या इसकी चाय बनाकर पीना फायदेमंद है। बेशक ये देखने में बहुत छोटी होती है, लेकिन बड़ी काम की चीज है लौंग। लौंग के तेल की दस बूंदों को शहद के साथ मिलाकर दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल करके अपनी सर्दी को ठीक कर सकते हैं।

लौंग में दिमागी स्ट्रेस को कम करने का भी गुण होता है। लौंग को आप तुलसी, पुदीना और इलायची के साथ इस्तेमाल करके खुशबूदार चाय बना सकते हैं। लौंग के इस्तेमाल से उल्टी आने की समस्या, जी घबराना और मॉर्निंग सिकनेस में आराम मिलता है। लौंग के तेल को इमली, थोड़ी सी शक्कर और पानी के साथ पीना चाहिए।
***