स्नान करते समय जपें ये एक मंत्र बारिश के पानी की तरह बरसेगा पैसा, जाने कैसे ??

सांसारिक जीवन में धर्म-कर्म के साथ धन की कामना भी किसी न किसी रूप में जुड़ी होती है क्योंकि जीवन की जरूरतों व दायित्वों की पूर्ति में धन की अहम भूमिका को नकारा नहीं जा सकता है। ऐसी धन संपन्नता के कोशिशें हर कोई अपनी ताकत के मुताबिक करता है।

वहीं, धर्मशास्त्रों के नजरिए से धनवान बनने का मतलब केवल ज्यादा से ज्यादा धन बटोरना नहीं है बल्कि धन के साथ गुणी होना ही असल में अमीरी मानी गई है। इसके बिना पाया धन भी यश व सुख नहीं देता। गुणवान बन धन पाने की राह आसान बनाने के लिए शास्त्रों में तन व मन की पवित्रता का महत्व बताया गया है।

शास्त्रों के मुताबिक सुबह स्नान करना ऐसा आसान उपाय है, जो तन के साथ मन को पवित्र कर देता है। क्योंकि सेहतमंद शरीर ही मन को भी स्थिर रखता है। इससे व्यक्ति मानसिक व वैचारिक रूप से मजबूत व पावन बन आसानी से मनचाही सफलता व मुकाम हासिल कर वैभवशाली जीवन भी जी सकता है।

एक सरल उपाय जो आपको धनी बनाने के साथ-साथ अवश्य ही हर कार्य में सफलता प्रदान करेगा। अत: नित्यकर्म से निवृत्त हो जाने के पश्चात स्नान करते समय इस मंत्र का स्मरण अवश्य करें :-

गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती।।
नर्मदे सिन्धु कावेरी जले अस्मिन् सन्निधिम् कुरु।।

ऐसा मन जाता है की यदि स्नान के साथ इस मंत्र का जाप भी किया जाए तो स्नान का फल कई गुणा अधिक बढ़ जाता है। शास्त्रों में शामिल किए गए ‘स्नानम मंत्र’ का जाप अत्यंत लाभकारी है। इस मंत्र का यदि पूर्ण मन से ध्यान लगाकर जाप जाए तो यह शारीरिक एवं अन्य सभी अशुद्धियों को साफ करता है।
***