सुबह उठते ही करें इस मंत्र का केवल एक बार जाप, बनते चले जाएंगे दिनभर के सभी काम !!

ऐसा मत है कि शास्त्रों द्वारा बताए गए तरीकों से यदि दिन की शुरुआत की जाए, तो पूरा दिन अच्छा गुजरता है। लेकिन सही तरीका क्या है, क्या कभी आपने जाना है?सुबह जल्दी उठना चाहिए, रोज स्नान करना चाहिए, यह तो सभी जानते हैं लेकिन दिन की एक अच्छी शुरुआत करने के लिए इसके अलावा और क्या किया जाए? क्या रोजाना मंदिर जाने से लाभ होगा या घर पर ही पूजा करने से? या इसके अतिरिक्त भी कोई अन्य तरीका मौजूद है?

दरअसल शास्त्रों में एक ऐसा उपाय दर्ज है जो व्यक्ति द्वारा ना केवल स्नान से पहले, बल्कि सुबह आंख खुलते ही किया जाना चाहिए। इस एकमात्र शास्त्रीय नियम को जीवन का हिस्सा बना लेने से व्यक्ति संतुष्ट रह सकता है।शास्त्रों के अनुसार सुबह आंख खुलते ही अपनी हथेलियों को अपने सामने मिलाकर लाएं और उनके दर्शन करें। हथेली देखने से पहले किसी भी चीज या वस्तु को ना देखें।

जैसे ही आप हथेली देखें तो इसके बाद इस मंत्र का कम से कम एक बार जाप करें –
“कराग्रे वसति लक्ष्मीः, कर मध्ये सरस्वती।
करमूले तू ब्रह्मा, प्रभाते कर दर्शनम्‌‌।।“

अर्थात् हथेलियों के अग्रभाग में भगवती लक्ष्मी, मध्य भाग में विद्यादात्री सरस्वती और मूल भाग में भगवान गोविन्द (ब्रह्मा) का निवास है। मैं अपनी हथेलियों में इनका दर्शन करता हूं।

ध्यान रहे कि इस मंत्र का जाप करते समय आपको केवल हथेली की ओर ही अपनी निगाहें रखनी हैं। और फिर मंत्र उच्चारण समाप्त होते ही हथेलियों को परस्पर घर्षण करके उन्हें अपने चेहरे पर लगाना चाहिए।

मान्यता है कि ऐसा करने से हम सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त कर लेते हैं और पूरा दिन अच्छा बीते इसके लिए सकारात्म्क ऊर्जा भी प्राप्त हो जाती है।
***