Jai Mata Di!

Recent Posts

घर को शीघ्र ही नर्क बना देती हैं ये गलतियां

हर घर में देवी-देवताओं के लिए एक अलग स्थान होता है। कई घर में अपने तरीके से छोटे या बड़े मंदिर बनाते है। हमें उनकी पूजा करने से सभी दुख-दर्द कम होता है साथ ही इससे आपके मन की शांति मिलती है।

जिन धरों में विधि विधान से पूजा की जाए तो घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है। जिससे घर की दरिद्रता दूर हो जाएगी, लेकिन कुछ जानकारी न होने पर हम कुछ गलतियां कर बैठते है जिससे कि घर में अशांति उत्पन्न होने लगती है।

घर में दो शिवलिंग, तीन गणेश, दो शंख, दो सूर्य प्रतिमाएं, जगदंबा की तीन प्रतिमाएं और दो शालिग्रामजी का पूजन नहीं करना चाहिए। इससे भक्ति का फल नहीं मिलता और दुखों की प्राप्ति होती है। वास्तु के अनुसार इससे घर का वातावरण अशांत रहता है।

घर के मंदिर में ज्यादा बड़ी मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए। यदि आप अपने मंदिर में शिवलिंग रखना चाहते हैं तो शिवलिंग अपने अंगूठे के आकार से बड़ा नहीं होना चाहिए। शिवलिंग बहुत संवेदनशील होता है और इसी वजह से घर के मंदिर में छोटा-सा शिवलिंग रखना शुभ होता है।

अपने घर के मंदिर में शंख तो जरुर रखते होगे, लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि एक से ज्यादा शंख मंदिर में न हो। अगर ऐसा हो तो एक शंख मंदिर से हटा दे।

शास्त्रों के अनुसार घर में कभी भी खंडित मूर्तिया नही रखनी चाहिेए, क्योंकि इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत खुल जाता है। जो अशुभ माना जाता है। इसलिए घर में खंडित मूर्ति की पूजा वर्जित है।
***