पूजा करते समय दीपक में डाल दें ये एक चीज़ बीमारी का नामो निशान नहीं रहेगा आपके घर में!!

पूजा में दीपक जलाने का अपना महत्व है। कहा जाता है कि इसके बिना पूजा अधूरी मानी जाती है। पुराणों की मानें तो पूजा में घी और तेल का दीपक जलाना चाहिए।

दीपक जलाने का मतलब होता है कि अपने जीवन से अंधकार हटाकर प्रकाश फैलाना। प्रकाश प्रतीक होता है ज्ञान का।

इसलिए कहा जाता है कि पूजा में दीपक जलाकर हम अंधकार को अपने जीवन से बाहर करते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं पूजा में दीपक जलाने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है।
  1.     जब भी पूजा में दीपक जलाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि दीपक साफ सुथरा हो और कहीं से टूटा फूटा नहीं होना चाहिए। किसी भी पूजा में टूटा हुआ दीपक रखना वर्जित माना गया है।
  2.     दीपक जलाते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह पूजा के बीच में बुझे नहीं बल्कि काफी समय तक जलता रहे। कहा जाता है कि पूजा के बीच में दीपक बुझना नहीं चाहिए। इसे शुभ नहीं माना जाता।
  3.     धार्मिक कार्यों में केवल घी और तेल का दीपक जलाना चाहिए। इसके अलावा किसी भी चीज का दीपक नहीं जलाना चाहिए।
  4.     पूजा के दौरान इस बात का भी ध्यान रखें कि घी का दीपक जलाने के तुरंत बाद तेल का दीपक नहीं जलाना चाहिए।
  5.     पूजा में एक दीपक से दूसरा दीपक जलाना भी शुभ नहीं होता। इसलिए हर दीपक को प्रज्जवलित करते समय इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए।
***