Jai Mata Di!

Recent Posts

कैसे पता चलेगा कि आप थायरॉइड का शिकार हो रहे हैं ?

थायरॉइड का इम्यून सिस्टम पर इसका बहुत खराब प्रभाव पड़ता है. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है. हमारे शरीर में थायरॉइड ग्रंथि श्वास नली के ऊपर और स्वर यंत्र के दोनों भागों में बनी होती है. यह शरीर में थाइरॉक्सिन नामक हॉर्मोन बनाती है,

जिससे शरीर का मेटाबॉलिज्म नियंत्रण में रहता है. दरअसल थायरॉइड हमारे शरीर में मौजूद एंडोक्राइन ग्लैंड में से एक होता है. इसका मतलब है कि थायरॉइड ग्रंथि का काम हमने जो खाना खाया, उसे ऊर्जा में बदलने का होता है. सोचिए अगर इस ग्रंथि में जरा भी गड़बड़ हुई तो उससे हमारे शरीर को कितना घातक प्रभाव झेलने पड़ेंगे?

वैसे तो थायरॉइड की शिकायत शुरुआती दौर में बहुत मामूली होती है. गर्दन में एक छोटी सी गांठ हो जाती है. पहले ये गांठ बहुत सामान्य सी मान ली जाती है. जब तक इसे गंभीरता से लिया जाए, तब तक यह बहुत भयंकर रूप धारण कर लेती है.

लेकिन यह बीमारी अपनी शुरुआती अवस्‍था में ही पकड़ में आ जाए, इसके लिए आपको क्‍या करना होगा? इसके लिए बस आपको थोड़ा सावधान रहना होगा. लेकिन सावधानी बरतने के लिए भी इस बीमारी के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है. इसलिए आइए जानते हैं कि आखिर कैसे पता लगाएं कि हम इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं.

1. हाथ-पैर ठंडे रहना: अगर आपके शरीर का तापमान सामान्य रहने पर भी आपके हाथ-पैर हर समय ठंडे रहते हैं तो इसे नजरंदाज न करें. यह थायरॉइड के लक्षणों में से एक है.

2. रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाना: थायरॉइड का इम्यून सिस्टम पर इसका बहुत खराब प्रभाव पड़ता है. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है.

3. नाख़ून और बालों पर असर: थायरॉइड होने पर पहला असर हमारे नाखूनों पर पड़ता है. नाख़ून पतले और दरदरे होने लगते हैं. बाल झड़ने लगते हैं और गंजापन आने लगता है. इसलिए अचानक अगर यह लक्षण प्रकट हों तो तुरंत सावधान हो जाएं.

4. पेट खराब रहना : हाइपोथाइरॉइड होने पर लम्बे समय तक कब्ज की शिकायत रहती है और हाइपरथायरॉइड होने पर डायरिया की शिकायत बार-बार होती है. कुछ भी खाने का मन नहीं करेगा. इसलिए अगर पाचन से जुड़ी यह समस्‍याएं हो रही हैं तो तुरंत अपना थायरॉइड चेक करवाएं.

5. बार-बार थकान होना : आप थोड़ा भी काम करने के बाद थका हुआ महसूस करते हैं. छोटी-छोटी बात पर घबराहट होने लगती है. थकान और घबराहट की और भी कई वजहें हो सकती हैं, लेकिन ऐसा होना थायरॉइड का भी लक्षण हो सकता है.

6. त्वचा में रूखापन : जिनको थायराइड होता है, उनकी त्वचा की ऊपरी परत की कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं, जिसकी वजह से त्वचा रूखी-रूखी होने लगती है.

7. जुकाम होना: अगर आपको सामान्य जुकाम से अलग तरीके का जुकाम हो रहा हो तो यह थायरॉइड का संकेत हो सकता है क्योंकि थायरॉइड होने पर बार-बार जुकाम होता है.

8. जोड़ों में दर्द: थायरॉइड में शरीर में कमजोरी आने के साथ-साथ जोड़ों में दर्द भी शुरू होजाता है. मांसपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं.

9. एड़ियां फटना : थायरॉइड की बीमारी होने पर एड़ियां गंदे तरीके से फटने लगती हैं. घरेलू नुस्खे अपनाने या क्रीम लगाने का भी कोई असर नहीं होता.

10. वजन तेजी से बढ़ना या घटना : अगर आप हाइपोथाइरॉइड से ग्रस्त हैं तो आपका वजन तेजी से बढ़ेगा. हाइपरथाइरॉइड में बिलकुल इसके विपरीत होता है. इसमें आपका वजन तेजी से घटने लगता है. शरीर में कॉलेस्ट्रॉल का स्तर भी घटता-बढ़ता रहेगा.
***