तुलसी पर जल अर्पित करते समय बोलना चाहिए ये मंत्र

तुलसी का पौधा घर में लगाने से वास्तुदोष दूर होते हैं। सभी धार्मिक-पौराणिक ग्रंथ-शास्त्रों में तुलसी को पवित्र, पूजनीय, शुद्ध और देवी स्वरूप माना गया है।

घर में तुलसी का पौधा लगाने से घर-परिवार के लोगों को रोगों से मुक्ति मिलती है और जीवन में सम्पन्नता आती है। वास्तुशास्त्र के अनुसार तुलसी पर प्रतिदिन जल चढ़ाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।

धर्मशास्त्र और वास्तुशास्त्र में तुलसी से संबंधित कुछ मंत्रों के बारे में भी बताया गया है जिन्हें जपने से जीवन में लाभ की प्राप्ति होती है। ये मंत्र इस प्रकार हैं…..

तुलसी को जल अर्पित करने का मंत्र- 

महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी,
आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।


इस मंत्र का जाप करने से आपके जीवन में सुख-शांति हमेशा बनी रहेगी।

तुलसी के पत्ते तोड़ते समय बोले गए मंत्र –

ॐ सुभद्राय नमः कहते हुए
मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी,
नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते ।।


इस मंत्र का कम से कम तीन बार जप करने के बाद ही तुलसी पत्र तोड़ें।
***