Jai Mata Di!

Recent Posts

तांबे की अंगूठी दूर करेगी आपका तनाव और रक्‍तचाप, जानिए तांबे की अंगूठी के लाभ

हम में से कितने लोग आज ज्‍योतिष में विश्‍वास करते हैं? शायद हम में से कई लोग करते हैं। हालांकि हममें से कुछ लोग इस पर पूरी तरह से विश्‍वास नहीं करते, लेकिन इसके बारे में जानकारी रखने में रुचि रखते हैं। यह एक आश्‍चर्यजनक तथ्‍य है कि कई धातुएं जैसे तांबा, पीतल, प्लेटिनम, सोना, चांदी और आयरन का ज्योतिष में एक महत्वपूर्ण स्थान है। लेकिन आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्‍यम से तांबे की अंगूठी पहनने के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में बतायेगें।

कॉपर एक प्राचीन धातु है, जिसका इस्‍तेमाल कई सालों से होता आ रहा है और यह रक्‍त की गुणवत्‍ता में सुधार के लिए जाना जाता है और कमजोर लिवर के कामकाज को मजबूत करने के लिए माना जाता है। कॉपर का उचित सेवन शरीर के लिए आवश्‍यक होता है, क्‍योंकि इसकी कमी से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है, हड्डियों में कमजोरी आती है और बाल और त्‍वचा के रंग में बदलाव आने लगता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि ज्‍योतिष के अनुसार तांबे की अंगूठी पहनना भी आपको कई तरह के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता है। विश्‍वास नहीं हो रहा तो आइए जानें कैसे।

तांबे की अंगूठी या ब्रेसलेट पहनने आपको रोगाणुओं से लड़ने में मदद मिलती है। इसी मुख्‍य कारण से आप तांबे की अंगूठी पहनने में विश्‍वास करते हैं। इसके अलावा कॉपर वास्‍तु दोष से छुटकारा पाने में मदद करता है, घर का माहौल शांतिपूर्ण बनाता है और जीवन शैली में परिवर्तन लाता है।

तांबे की अंगूठी के फायदे

  •     जिन लोगों के शरीर में कॉपर की कमी होती है उन्‍हें कॉपर के गहने पहनने से भी लाभ होता है, क्‍योंकि इसे त्‍वचा के माध्‍यम से अवशोषित किया जा सकता है। आभूषण मिनरल की जरूरत की थोड़ी सी राशि को लेने का अच्‍छा तरीका है। तांबे के चिकित्‍सीय गुण, अंगूठी, ब्रेस्‍लेट, हार और बालियों के रूप में, शरीर में मिनरल की न्‍यू‍नतम राशि को आने की अनुमति देता है।
  •     तांबे की अंगूठी पहनने से अर्थरा‍इटिस और ब्लड सर्कुलेशन की कमी से आने वाली समस्‍याओं के लक्षणों से राहत मिलती है।
  •     सभी धातुओं में, तांबा सबसे पुरानी धातुओं में से एक है। यह कहा जाता है कि तांबे रक्त शुद्ध करने और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करता है।
  •     तांबे की अंगूठी पहनने का एक महत्‍वपूर्ण पहलु यह है कि यह शरीर के लिए शीतलक माना जाता है और शरीर की गर्मी को कम करता है। यानी आज के तनावपूर्ण जीवन में, हम अक्सर गुस्सा और नाराज हो जाते हो – अगर हम तांबे की अंगूठी पहने रहते हैं तो हमारे गुस्से को नियंत्रण और और शरीर को शांत रखने में मदद मिलती है।
  • तांबे की अंगूठी उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। रक्तचाप में उतार-चढ़ाव बंद हो जाने से आप रोग से बचे रहते हैं। तांबे की अंगूठी शरीर में सूजन को कम करने में भी मददगार होती है।
  • यह शरीर में दर्द, पेट की समस्याओं, पाचन और एसिडिटी जैसे अन्य सामान्य स्वास्थ्य समस्‍याओं का भी ध्‍यान रखती है।
  • अगर आपको पेट की समस्‍या या पेचिश लगातार परेशान कर रहे हैं तो तांबे की अंगूठी को तुरंत पहनने से आपको समस्‍या को दूर करने में मदद मिलती है।
  • नाखून और त्वचा की समस्याओं के उपचार के लिए भी यह फायदेमंद है।
  • इसलिए, ज्‍योतिष नजरिये के अनुसार एक तांबे की अंगूठी पहनने से सूर्य से संबंधित सभी रोगों को दूर करने में मदद मिलती है।
तांबे के चिकित्‍सा गुण जैसे एंजामेटिक केमिकल प्रतिक्रिया सकारात्‍मक शरीर के रसायन विज्ञान से जुड़े होते हैं। ऐसा होने से तांबा शरीर की त्‍वचा के ऑयल और एसिड के संपर्क में आता है लेकिन ऐसे में कोटेट तांबा काम नहीं करता है। जब तांबा त्‍वचा के सीधे संपर्क में होता है तो तांबे के सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व त्‍वचा के माध्‍यम से तांबे के नमक के रूप में खून में प्रवेश कर तेल और एसिड के मिश्रण उत्‍पन्‍न कर तांबे के स्रोत को लेता है। इसलिए शुद्ध तांबे का प्रयोग करना चाहिए।
***