कुछ उपाय जिन्हें करने से बजरंग बली को प्रसन्न किया जा सकता है और मनचाहा वर मांगा जा सकता है।

रामभक्त हनुमान एक ऐसे देवता है जो थोड़ी सी पूजा से ही जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और भक्तों की सारी पीड़ा हर लेते हैं। इस पोस्ट में आप ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में पढ़ेंगे जिन्हें करने से बजरंग बली को प्रसन्न किया जा सकता है और उनसे मनचाहा वर मांगा जा सकता है।

हनुमानजी की आराधना के लिए मंगलवार या शनिवार का दिन सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इस दिन शुभ मुहूर्त में स्नान-ध्यान आदि से निवृत्त होकर प्रातःकाल में ही मारूतिनंदन की पूजा करनी चाहिए। सबसे पहले श्रीगणेशजी को नमन कर उनसे आशीर्वाद लें, तत्पश्चात श्रीरामचन्द्र जी और महादेवजी की स्तुति करें।

अंत में हनुमानजी की प्रतिमा को चमेली के तेल में सिंदूर मिला चोला चढ़ाएं। चोले के बाद उन्हें चांदी के वर्क से सुसज्जित कर, जनेऊ, पान, पुष्प, इत्र आदि अर्पित करें। वहीं उनकी प्रतिमा के आगे बैठ कर सुंदर कांड का पाठ करें तथा भोग लगाएं। पूजा समाप्त होने के बाद भगवान से अपनी समस्या के निवारण की प्रार्थना करें तथा प्रसाद को वहां मौजूद लोगों के साथ बांट कर खाएं। इस उपाय के साथ ही किसी गरीब को भोजन करवा सके तो सर्वश्रेष्ठ होगा। इससे आपके अन्य कष्ट भी दूर होंगे।

कब करें इस उपाय को
अगर किसी की कुंडली में राहु, केतु, शनि या मंगल ग्रह बुरा असर दे रहें हों तो इस उपाय से उनका अशुभ असर टल जाता है। अगर किसी व्यक्ति को शनि की साढ़े साती या ढैय्या चल रही है तो भी इस उपाय से उसका असर काफी हद तक समाप्त हो जाता है।

पूजा के दौरान रखें ये सावधानियां
हनुमानजी की पूजा में साफ-सफाई और पवित्रता का विशेष ध्यान रखना अनिवार्य है। किसी भी प्रकार की अपवित्रता चाहे वो शरीर की हो, विचारों की हो या मन की, अक्षम्य मानी जाती है। पूजा के दौरान किसी भी तरह के बुरे या गलत विचार को मन में न आने दें, न ही किसी का अप्रिय सोचें। अपनी पत्नी के अतिरिक्त अन्य किसी स्त्री के प्रति कामभाव न रखें न ही अपंगों, जानवरों तथा बच्चों पर किसी प्रकार की हिंसा करें।
***