अगर आप पपीते में नीबू मिला कर खायेंगे तो यह आपको दोगुना फायदा देगा

 कब्ज की शिकायत दूर होती है:
सभी जानते है कि पपीते का सेवन पेट के लिए अच्छा होता है, पपीते के छोटे-छोटे टुकड़े करके काली मिर्च का चूर्ण, सेंधा नमक और नींबू का रस मिलाकर सेवन करने से भोजन के प्रति अरुचि की शिकायत दूर होती है और भोजन अच्छे से हजम हो जाता है. पपीते में पपाइन नामक एंजाइम पाया जाता है, जो आहार को पचाने में अत्यंत मददगार साबित होता है, इसके सेवन करने से मंदाग्नि की शिकायत दूर होती है इसमें दस्त और पेशाब के रोगों को दूर करने में भी कारगर साबित होती हैं.

लीवर सिरोसिस से बचाव:
पपीते और नींबू रस लीवर सिरोसिस के लिए काफी लाभदायक घरेलू उपाय है, पपीता लीवर को काफी मज़बूती प्रदान करता है और नींबू लीवर को पित्त के उत्पादन में सहायता करता है और शरीर से गन्दगी को बाहर निकालता हैं, इसलिए हर रोज दो चम्मच पपीता के रस में आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर पिएं, इस बीमारी से पूरी तरह निजात पाने के लिए इस मिश्रण का सेवन तीन से चार सप्ताहों के लिए करें, अगर आपकी यह समस्या गंभीर हैं तो बेहतर हैं आप डॉक्टर से परामर्श कराए, लेकिन लीवर को दुरुस्त रखने के लिए आपको चाहिए की आप पपीते का सेवन नियमित रूप से करे.

कैंसर से बचाव:
पपीते के गुण से आप कैंसर जैसी बिमारी से भी बाख सकते हैं इसके  सेवन से कोलन कैंसर, प्रोस्‍टेट कैंसर और ब्‍लड कैंसर आदि की कैंसर कोशिकाओं पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.

आंखों के लिए फायदेमंद:
नींबू और पपीते में मौजूद गुण विटामिन ए आंखों की कमजोरी को दूर करता है, पपीते में कैल्श्यिम, कैरोटीन के साथ विटामिन ए विटामिन बी, और सी, डी की की भरपूर मात्रा होती है.

यह आंखों की दिक्कतों को खत्म करती है, इसके सेवन से रतौंधी रोग दूर होता है और आंखों की रौशनी भी बढती हैं आँखों की द्रष्टि अच्छी बनाएं रखने के लिए इसका सेवन जरूर करे, जिन बच्‍चों को कम उम्र में ही चश्‍मा लग जाता है उनके लिए यह बेहद लाभकारी होता है. इसके अलावा विटामिन ए भी उम्र से संबंधित धब्बेदार पतन के विकास को रोकता है और आँखों के लिए स्वास्थ्य वर्धक माना जाता है.

वजन घटाने मे कारगर:
अगर आप मोटापे से ग्रस्त हैं और अपना वज़न कम करना चाहते हैं तो आपको चाहिए की आप नियमित रुप से सुबह खाली पेट पपीते और नींबू के रस का सेवन करें, नींबू और पपीते में पेक्टिन फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है जो भूख की प्रबल इच्छा से लड़ने में मदद करता है और आप एक लंबे समय के लिए भूख को महसूस नहीं होने देता हैं

पेट को भरा भरा महसूस करवाने के साथ यह आंतों के कार्यों को ठीक रखता है जिसके फलस्‍वरूप वजन घटाना आसान हो जाता है इससे आपका मेटाबोलिज्म अच्चा रहता हैं और इससे वज़न भी घटता हैं इसके बाद अपना वजन चेक करें उसमें निश्चित ही कमी दिखेगी.इसके सेवन से कमर की चर्बी कम होती है, और इसके साथ ही अगर आप एक्सरसाइज और योग का सहर लेंगे तो आपका वज़न निश्चित रूप से सही होगा.

दिल रखें सुरक्षित:
नींबू और पपीता फाइबर, विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है और धमनियों में कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को कम करता है, अगर आप कोलेस्ट्रोल की समस्या से पीड़ित अहिं तो आपको इसका सेवन करना चाहिए.

अधिक कोलेस्ट्रॉल का निर्माण धमनियों को ब्लॉक कर सकता है और दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकता है इसीलिए कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण में रखना बहुत ज्यादा ज़रूरी होता हैं,  नींबू का सेवन नसों में निरन्तर रक्त संचार को बेहतर बनाता हैं और दिल के दौरे और अटैक को रोकने में सक्षम है.

ब्लडप्रेशर रखे नियंत्रित:
नींबू में पोटाशियम भी होता है जो ब्लड प्रेशर नियंत्रित करता है और ब्रेन एवं नर्व सिस्टम को दुरूस्त करता है, पपीता में भी ब्लडप्रेशर ठीक करने प्राकृतिक गुण छिपे हुयें है. इन दोनों के सेवन से कुछ समय के लिए उसका शरीर रिलैक्‍स हो जाता है क्‍योंकि उसके शरीर से तनाव दूर करने वाले हारमोन्‍स की मात्रा बढ़ जाती. इनमे मौजूद कई पोषक तत्व शरीर को मौसम बदलने के साथ होने वाले संक्रमणों से दूर रखने में मदद रखता हैं, इस प्रकार अगर आप बलोद प्रेशर के शिकार हैं तो आपको इसका सेवन करना चाहिए.
***