भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय, कुंडली दोष अौर रोगों से मिलेगी मुक्ति

भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय, कुंडली दोष अौर रोगों से मिलेगी मुक्ति

भोलेनाथ जल का एक लोटा अर्पित करने से भी प्रसन्न हो जाते है। भोलेनाथ अपने भक्तों पर शीघ्र प्रसन्न होकर उनकी हर मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। शास्त्रों में बताया गया है कि भगवान शिव की लिंग स्वरूप में पूजा करने से भोलेनाथ शीघ्र प्रसन्न होते हैं। यहां कुछ सरल उपाय बताए गए हैं। जिनको करने से विवाह, बीमारी अौर कुंडली संबंधी दोष दूर होते हैं।

सुबह शीघ्र उठकर स्नादि कार्यों से निवृत होकर शिवालय जाकर शिवलिंग पर जल अर्पित करें। उसके बाद अपने दोनों हाथों से शिवलिंग को रगड़ें। ऐसा करने से व्यक्ति का भाग्य बदल सकता है।

किसी सुनसान स्थान पर बने भगवान शिव के मंदिर में जाकर दीपक प्रज्वलित कर मनोकामना पूर्ति के लिए प्रार्थना करें। इससे मनोकामना जरुर पूरी होगी।

बिल्वपत्रों पर चंदन से ऊँ नमः शिवाय लिखकर उन पत्तों की माला बनाकर भोलेनाथ को अर्पित करें। बिल्वपत्र कहीं से भी फटे हुए न हों।

रोगों से परेशान हैं अौर दवाईयां लेने के बाद भी असर नहीं हो रहा है तो जल में दूध अौर काले तिल मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करने पर सभी रोगों से मुक्ति मिल जाती है।

जल में केसर मिलाकर शिवलिंग पर अर्पित करने से विवाह तथा वौवाहिक जीवन से संबंधित समस्याएं दूर होती है। इसके साथ ही गृहस्थ जीवन में आ रही परेशानियां भी दूर हो जाती है।

कुंडली में शनि दोषपूर्ण है अौर पीड़ा दे रहा है तो जल में काले तिल मिलाकर शिवलिंग पर अर्पित करने से शीघ्र राहत मिलेगी।

शिवलिंग पर दूर्वा अर्पित करें। इससे दीर्घायु होती है। ऐसा करने से भोलेनाथ के साथ-साथ श्रीगणेश की भी कृपा प्राप्त होती है।

नियमित रूप से आंकड़े की माला बनाकर शिवलिंग पर अर्पित करें। इससे व्यक्ति की हर मनोकामना पूर्ण होती है।

शिवलिंग पर चावल अर्पित करने से घर में लक्ष्मी का वास स्थाई हो जाता है। इस बात का ध्यान रखें कि शिवलिंग पर अर्पित चावल खंड़ित न हो। ऐसा करने से भगवान शिव के साथ-साथ देवी लक्ष्मी की भी कृपा प्राप्त होती है।

प्रतिदिन शिवलिंग पर धतूरा अर्पित करने से घर अौर संतान से संबंधित समस्याएं दूर होती है। इससे संतान के कार्यों में भी सफलता मिलती है।
***