लाल मिट्टी के इस्तेमाल से कुछ ही दिनों में दूर करें सफ़ेद दाग

सफेद दाग किसी को भी हो सकते हैं और ये एक बीमारी है जो समय पर इलाज करने से ठीक हो सकती है। लेकिन कई बार लोग इसे छूत की बीमारी मान लेते हैं और इस कारण इस बीमारी से ग्रस्त मरीजों के साथ उठना-बैठना तक बेद कर देते हैं। जबकि ये गलत है।अगर ये लड़कियों को हो जाए तो उनकी तो पूरी जिंदगी आफत में आ जाती है। क्योंकि ऐसी लड़कियों की शादी होने में काफी दिक्कत आती है और कईयों की तो होती भी नहीं। जबकि ये भी गलत है।तो इन गलत चीजों को ठीक करने के लिए क्या किया जाए...???इन गलत चीजों को ठीक करने के लिए आपको केवल इस लेख में दिए गए इलाज को पढ़ने की जरूरत है और अपने आसपास के लोगों को इस इलाज के बारे में बताने की जरूरत है। जिससे की मरीज घर बैठे ही इस बीमारी का इलाज कर सकें।

आसान है ये उपाय
ये उपाय बहुत ही आसान और रमाबाण इलाज माना जाता है और आपको इसका असर 15 दिन में ही दिखने लगेगा। ये नारियल तेल का विशेष तरह का मिश्रण है जिसे तैयार करना बहुत ही आसान है।

लाल मिट्टी
लाल मिट्टी को सफेद दाग का रामबाण इलाज माना जाता है जबकि शहर में रहने वाले कम लोगों को ही इस बात की जानकारी है। ग्रामीण जगहों पर तो लोग इस बीमारी के इलाज के लिए लाल मिट्टी का ही इस्तेमाल करते हैं।

ये है विधि
    1 चम्मच अदरक का रस
    2 चम्मच लाल मिट्टी

क्यों है फायदेमंद
    लाल मिट्टी में कॉपर की मात्रा अधिक होती है। ऐसे में जब आप अपनी त्वचा पर लाल मिट्टी का इस्तेमाल करते हैं तो ये कॉपर त्वचा में मेलेनिन के निर्माण को बढ़ा देती है जिससे सफेद दाग ठीक हो जाते हैं।
    अदरक से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है जिससे सफेद दाग वाली जगह में पोषण की मात्रा पूरी होती है और दाग जल्दी ठीक होने में सहायक होते हैं।

इस तरह से लगाएं इन दागों में लगाएं लाल मिट्टी
    लेकिन इन दागों को ठीक करने के लिए आपको विशेष तरीके से दागों पर लाल मिट्टी लगाने की जरूरत है।
    इन दागों पर लाल मिट्टी लगाने के लिए सबसे पहले एक चम्मच अदरक के रस में 2 चम्मच लाल मिट्टी का पाउडर मिलाकर पेस्ट बनाएं।
    फिर इस पेस्ट को दागों पर लगाएं।
    अब दो मिनट्स के लिए मसाज करें और फिर इसे सूखने के लिए छोड़ दें।
    ऐसा रोजाना करें। इससे सफेद दाग जल्दी भरने लगेंगे।

जरूरी हिदायत
    लेकिन इस उपाय को शुरू करने से पहले आपको नमक, मिर्ची, तला हुआ, मांस, मछली, शराब, धुम्रपान का सेवन बिलकुल बंद करने की जरूरत है। अगर आप इन चीजों का सेवन बंद कर सकते हैं तभी इस उपाय को शुरू करें... क्योंकि बिना इन चीजों का सेवन बंद किए ये उपाय उतने कारगर नहीं होते।
    साथ ही आप जो होम्योपैथी इलाज इस बीमारी के लिए करवा रहे होंगे उसे इस नुस्खे के इस्तेमाल करने के दौरान जारी रखें। इससे दोगुना असर होता है।

इसके अलावा इस नुस्खे का इस्तेमाल करने के दौरान रोजाना सुबह ग्लास लौकी का जूस पिएं। इस जूस में 11 तुलसी के पत्ते और 11 पुदीने के पत्ते डालकर पीतें हैं तो ज्यादा फायदेमंद रहेगा।
***