बच्चों में अंगूठा चूसने की आदत को इस तरह छुड़वाएं

बच्चों में अंगूठा चूसने के अलावा अंगुली, हाथ या चूसनी चूसने की आदत 6 माह तक सामान्य होती है। लेकिन इसके बाद भी बच्चा भूख लगने, अकेला रहने, बोरियत व आलस महसूस होने से इस आदत को जारी रखता है जो सही नहीं। कई बार 5 साल के बाद तक इस आदत का बने रहना भावनात्मक तकलीफों की ओर इशारा करता है।

समस्या
5 साल के बाद भी आदत के बरकरार रहने पर टेढ़े-मेढ़े दांत, ऊपर के दांत बाहर की ओर और नीचे के दांत अंदर की ओर धंसने जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। साथ ही वह शब्दों को साफ नहीं बोल पाता और कई बार बोलने में अटकने लगता है।

ऐसे रोकें
बार-बार उसे टोकें लेकिन प्यार से। मुंह से हाथ निकालें। आदत न छूटने पर चिकित्सक की सलाह से फेमाइट सॉल्यूशन को अंगूठे पर लगाएं। इसका स्वाद थोड़ा कड़वा होने के कारण वह ऐसा करना बंद करेगा।

नाइट स्लीप शर्ट पहना सकते हैं। ऐसे में शिशु के हाथ कपड़े के अंदर रहते हैं वह ऐसा नहीं कर पाता।

अंगूठे में थम्ब गार्ड पहनाएं। यह एक प्लास्टिक की कवरिंग होती है जिससे अंगूठा ढक जाता है।

समस्या बढऩे पर दांतों में एप्लाइंसेस लगाए जाते हैं जिससे बच्चा अंगूठा नहीं चूस पाता।
***