कामयाब व्यक्ति को बर्बाद कर सकती हैं ये 4 बातें! - Habits which destroy successful man

सफलता की ऊंचाई पर पहुंच कर उसे बनाए रखना काफी चुनौतीपूर्ण होता है। ऐसे में यदि कोई व्यक्ति अहंकार के वशीभूत हो जाए और लोगों के साथ गलत व्यवहार करने लगे तो उसका पतन भी हो सकता है।

हालांकि सफल होने के बाद ऐसा न हो, इस बारे में हमारे वैदिक ग्रंथ पद्मपुराण में चार प्रकार की आदतों का जिक्र मिलता है। यदि इंसान इन चार तरह की आदतों को पूरी तरह से जिंदगी से निकाल दे तो उसका जीवन स्वर्ग के समान हो सकता है।

- न करें दूसरों की निंदा: कोई भी व्यक्ति हो उसे सम्मान देंगे तो सम्मान मिलेगा। सफल व्यक्ति यदि लोगों को सम्मान देता है तो वो लंबे समय तक उस स्थिति पर बना रहेगा। और कहा भी गया है कि बड़ा आदमी वो होता है जो अपने छोटे आदमी को छोटा महसूस न होने दे। ऐसे में दूसरों को सम्मान दें, निंदा बिल्कुल भी न करें।

- न करें खुद की तारीफ: कोई व्यक्ति जब अपनी स्वयं ही तारीफ करने लगे तो यह घमंड और सेलफिश होने की निशानी माना जाता है। दरअसल यह आदत इंसान को पूरी तरह से बर्बाद कर देती है। इसलिए खुद की तारीफ करने से बचें।

- ईश्वर की निंदा न करें: जिस विधाता ने इस सृष्टि की रचना की है। यदि हम उनकी निंदा करेंगे तो हम अपना सर्वनाश स्वयं बुला लेंगे। ऐसे व्यक्ति कभी सफल नहीं होते जो अपने और दूसरे धर्मों को आदर नहीं देते।

- धर्मग्रंथो का न करें अपमान : वैदिक काल में जो ग्रंथ लिखे गए वो हमारे धर्म ज्ञान को बढ़ाने के लिए ही लिखे गए थे। धर्म ग्रंथ चाहे हमारे धर्म का हो या किसी अन्य धर्म का धर्म ग्रंथ का अपमान बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
***