Jai Mata Di!

Recent Posts

अपनाएं सिर्फ ये 1 उपाय, रात में नहीं आएगा टॉयलेट!

क्‍या आपको भी रात में बार-बार टॉयलेट जाना पड़ता है? तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है। वैज्ञानिकों ने इसका निदान खोज निकाला है। बार-बार टॉयलेट जाने से अब आपकी नींद खराब नही होगी न ही किसी प्रकार का तनाव या थकान महसूस करेंगे। आमतौर पर अधिक बार टॉयलेट जाने की प्रॉब्‍लम 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में ज्‍यादा देखने को मिलती है, जिसे लोग बहुत ही साधारण समस्‍या मानकर अनदेखा कर देते हैं, जबकि इससे आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

लंदन में यूरोपीय सोसायटी ऑफ युरोलॉजी कांग्रेस में प्रस्तुत अध्ययन के अनुसार, अगर खान-पान में बदलाव किया जाए तो इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं। रिसर्च के मुताबिक, खाने में नमक की मात्रा कम करने से दिन और रात में ज़्यादा पेशाब जाने की परेशानी का निदान निश्चित है। जापान में नागासाकी यूनिवर्सिटी के प्रमुख वैज्ञानिक मात्सुओ टोमोहिरो के अनुसार 'रात में पेशाब ज़्यादा जाने की समस्या से अधिक उम्र के लोग ज़्यादा परेशान होते हैं। अपने खान-पान में थोड़ा बदलाव कर ये लोग अपने जीवन स्तर को बेहतर कर सकते हैं।'

300 से अधिक व्‍यक्तियों पर हुआ है अध्‍ययन
वैज्ञानिकों ने 321 महिलाओं और पुरूषों पर अध्ययन किया जो कि खाने में नमक ज़्यादा लेते थे और रात को सोने में इनको बार-बार टॉयलेट जाने की समस्या थी। इन व्‍यक्तियों को जब नमक की मात्रा कम करने की सलाह दी गई। और 84 दिन बाद उनके नमक के सेवन का बायोकेमिकल रूप से परीक्षण किया गया। इस जांच में 223 लोगों ने अपने खाने में नमक की मात्रा 10.7 ग्राम प्रतिदिन से 8.0 ग्राम प्रतिदिन कर लिया। इसके बाद का रिजल्‍ट जानकर हर कोई हैरान था।

अध्‍ययन के बाद आए परिणाम के मुताबिक, लोगों की रात में पेशाब जाने की फ्रिक्वेंसी 2.3 टाइम से 1.4 टाइम हो गई। इसके विपरीत, 98 प्रतिशत ने रात में अपना नमक का सेवन 9.6 ग्राम से 11 ग्राम बढ़ा लिया, जिससे रात में पेशाब जाने की फ्रिक्वेंसी 2.3 टाइम से बढ़कर 2.7 टाइम हो गई। वैज्ञानिकों की मानें तो दिन में भी अगर खाने में नमक की मात्रा कम किया जाए तो बार-बार टॉयलेट जाना कम हो सकता है।
***