सिर्फ 1 प्याज के टुकड़े को खाने से होते है ये 50 चमत्कारी फायदे

प्याज (Onion) के 50 चमत्कारी फायदे :
  1.     शरीर को शक्तिशाली बनाना : प्याज शहद और मिश्री को एक साथ मिलाकर खाने से पेट से सम्बंधित रोग खत्म हो जाते हैं और शरीर में ताकत की वृद्धि होती है।
  2.     प्याज के रस को घी में मिलाकर पीने से शरीर में शक्ति के साथ ही साथ संभोग (से*क्स) करने की क्षमता भी बढ़ती है।
  3.     लगभग 10 मिलीलीटर की मात्रा में सफेद प्याज के रस को 10 ग्राम शहद के साथ मिलाकर सुबह-शाम को लगातार 40 दिनों तक चाटने से संभोग करने की क्षमता में वृद्धि होती है।
  4.     लगभग 8 मिलीलीटर की मात्रा में सफेद प्याज का रस, लगभग 6 मिलीलीटर की मात्रा में अदरक का रस, लगभग 4 ग्राम की मात्रा में शहद और 20 मिलीलीटर की मात्रा में घी मिलाकर चाटने से शरीर मजबूत होता है और शरीर के अंदर ताकत आती है।
  5.     प्याज के रस में समान मात्रा में शुद्ध देशी घी मिलाकर पीने से शारीरिक शक्ति बढ़ती है।
  6.     1 चम्मच प्याज के रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर चाटने से शरीर को ताकत मिलती है।
  7.     नशा उतारना : जो व्यक्ति नशे में होता है उस व्यक्ति को 1 प्याज का रस रोजाना पिलाने से उसका नशा उतर जाता है।
  8.     घट्टा (पैर का गोखरू) : प्याज का रस प्रतिदिन पैर में लगाने से पैर नर्म हो जाने पर घट्टे को काटकर फेंक दें।
  9.     मर्दाना ताकत : प्याज के सेवन से कामवासना में वृद्धि होती है। इससे वी*र्य अधिक बनता है तथा यह देर तक संभोग करने की ताकत को बढ़ाता है।
  10.     60 ग्राम लाल प्याज के बारीक टुकड़े को इतने ही घी और 250 मिलीलीटर दूध में मिलाकर गर्म करें। फिर इसमें मिश्री मिलाकर 20 दिनों तक रोजाना सेवन करने से खोई हुई मर्दानगी वापस आ जाती है।
  11.     1 चम्मच प्याज के रस को आधा चम्मच शहद में मिलाकर पीने से वीर्य का पतलापन दूर होता है तथा वीर्य में बढ़ोत्तरी होती है।
  12.     प्याज को किसी बर्तन में भरकर, बर्तन का मुंह इस प्रकार बंद कर देना चाहिए कि उसमें हवा न जाने पाये, फिर इस बर्तन को जहां गाय बंधती हो उस जमीन में गाड़ देना चाहिए। 4 महीने बाद निकालकर 1 प्याज रोजाना खाने से कामशक्ति तेज होती है।
  13.     आधा किलो प्याज का रस, 2 किलो शहद और 250 ग्राम चीनी को मिलाकर शर्बत के रूप में रोजाना 25 मिलीलीटर तक पीने से कामशक्ति बढ़ती है।
  14.     लगभग 15-20 मिलीलीटर प्याज का रस, शहद और शराब को मिलाकर पीने से शरीर में चुस्ती-फूर्ती रहती है।
  15.     30 प्याज को इतने ताजे दूध में डालें कि प्याज दूध में अच्छी तरह डूब जायें, फिर इसे आग पर इतना पकायें की प्याज गल जाये, पकने के बाद इसे आग से नीचे उतार लें, अब इसे प्याज की मात्रा के बराबर गाय के घी और शहद में मिलाकर थोड़ी देर तक पकायें और अंत में इसमें 60-60 ग्राम कुलंजन डालकर 3-4 चम्मच की मात्रा में खाने से शरीर में कामशक्ति तेज होती है।
  16.     स्वप्नदोष (नाइटफॉल): 10 मिलीलीटर सफेद प्याज का रस, 8 मिलीलीटर अदरक का रस, 5 ग्राम शहद और 3 ग्राम घी को एकसाथ मिलाकर रात को सोते समय पीने स्वप्नदोष का रोग नहीं होता है।
  17.     सांप के काटने पर : 15 मिलीलीटर प्याज के रस और 15 मिलीलीटर सरसों के तेल को अच्छी तरह मिलाकर रोगी को 1 दिन में 3 बार आधे-आधे घंटे के बाद पिलाने से सांप का जहर उतर जाता है और रोगी ठीक हो जाता है।
  18.     जुकाम : 10-20 मिलीलीटर प्याज के रस में 1 चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2-3 बार चाटने से नजला दूर हो जाता है।
  19.     रतौंधी (रात को दिखाई न देना) : प्याज के फल को दबाकर निकाले हुए रस में जरा सा लवण (नमक) मिलाकर आंख में 2-2 बूंद करके डालें। इससे रतौंधी (रात में दिखाई न देना) के रोग में लाभ मिलता है।
  20.     प्याज का रस आंखों में डालने से या लगाने से रतौंधी रोग धीरे-धीरे समाप्त हो जाता है।
  21.     आंखों की रोशनी : प्याज के रस को शहद में मिलाकर आंखों में लगाने से आंखो की रोशनी तेज होती है।
  22.     काले दाग : चेहरे के काले दागों पर प्याज का रस लगाने से दागों का कालापन दूर होता है और चेहरे की चमक बढ़ती है।
  23.     नकसीर : नकसीर (नाक से खून आने पर) में प्याज का रस नाक में डालने से नाक और गले का संक्रमण ठीक हो करके नकसीर के रोग में लाभ पंहुचता है।
  24.     प्याज के रस को बूंद-बूंद करके नाक में डालने से नकसीर (नाक से खून बहना) का रोग ठीक हो जाता है।
  25.     प्याज और पुदीने के रस को मिलाकर सूंघने से नकसीर (नाक से खून बहना) रुक जाती है।
  26.     प्याज के रस को नाक से सूंघने से नाक से खून आना बंद हो जाता है।
  27.     आंखों के रोग : प्याज के रस को आंखों में डालते रहने से आंखों की रोशनी बढ़ती है तथा धुंध, नाखून, जाला, गुबार और मोतियाबिंद आदि आंखों के रोग दूर होते हैं।
  28.     अनिद्रा (नींद का कम आना): कच्चा लाल प्याज या पकाये हुए प्याज को गर्म राख में पकाकर या इसका रस 4 चम्मच पीने से नींद अच्छी आती है।
  29.     जाला (आंखों की पुतली पर उत्पन्न सफेदी जाला) : रूई की बत्ती को प्याज के रस में भिगोकर सुखाकर तिल के तेल में जलाकर लगाने से आंखों का जाला (आंखों की पुतली पर पैदा हुआ सफेद जाला) दूर होता है।
  30.     ऐंठन : ऐंठन होने और झटके लगने पर प्याज के गर्म-गर्म रस से पैर के तलुओं पर मालिश करने से आराम मिलता है।
  31.     कुत्ते या सियार के काटने पर : प्याज को पीसकर शहद में मिलाकर जानवर के द्वारा काटे हुए अंग (भाग) पर लगाने और प्याज का रस पिलाने से जहर दूर हो जाता है।
  32.     मस्से : प्याज का रस लगाने से मस्से नष्ट हो जाते हैं।
  33.     स्तनों में दूध-वृद्धि : भोजन में कच्चे प्याज का सेवन अधिक मात्रा में करने से स्तनपान कराने वाली औरतों का दूध बढ़ जाता है।
  34.     मिर्गी (अपस्मार) : रोजाना सुबह लगभग 72 मिलीलीटर प्याज का रस थोडा-सा पानी मिलाकर पीने से मिर्गी का दौरा बंद हो जाता है। ऐसा कम से कम 40 दिनों तक कर सकते हैं। मिर्गी के दौरे में प्याज का रस सूंघने से होश में आ जाता है।
  35.     लू का लगना : लगभग 2 ग्राम जीरे के चूर्ण को पीसी हुई प्याज के साथ मिश्री मिलाकर खाने से लू में बहुत लाभ मिलता है।
  36.     प्याज के रस को कनपटियों और छाती पर मसलने से लू ठीक हो जाती है।
  37.     गर्मी के दिनों में धूप में निकलने से पहले एक कच्चा प्याज साथ में ले जाने से लू लगने का खतरा नहीं रहता है।
  38.     रोगी को प्याज का रस लगभग 1 चम्मच की मात्रा में थोड़ी-थोड़ी देर में देते रहने से लू से बचा जा सकता है।
  39.     प्याज तथा सिरका मिलाकर इसकी चटनी बनाकर खाने से लू से राहत मिलती है।
  40.     प्याज का ताजा रस शरीर पर मलने से लू का असर तुरंत नष्ट हो जाता है।
  41.     कान में दर्द : कान में दर्द, कान में पीव और कान में आवाज आना और बहरापन होने पर प्याज के रस को थोड़ा-सा गर्म करके उसकी 5-7 बूंदे कान में डालने से लाभ मिलता है।
  42.     प्याज या लहसुन के रस को गुनगुना करके कान में डालने से कान के दर्द में लाभ होता है।
  43.     1 प्याज को गर्म राख में रखकर भून लें और इसे पीस लें। फिर इसका रस निकालकर गुनगुना करके कान में डालने से कान का दर्द दूर हो जाता है।
  44.     प्याज के बीच के हिस्से को निकालकर गर्म कर लें। फिर इस गर्म भाग को कान में रखने से कान का दर्द चला जाता है।
  45.     प्याज के रस को गर्म करके उसकी 2-4 बूंदे कान में डालने से कान का दर्द समाप्त हो जाता है।
  46.     बिच्छू के काटने पर : प्याज को काटकर उस पर बुझा हुआ चूना लगाकर बिच्छू के डंक पर रगड़ने से बिच्छू के काटे का जह़र तुरंत उतर जाता है।
  47.     गंज (सिर पर कहीं से बाल उड़ जाने को गंज कहते हैं) : गंज वाले भाग पर प्याज का रस रगड़ने से बाल वापस उगने लगते हैं और बाल गिरने रुक जाते हैं।
  48.     हिचकी : प्याज को काटकर और धोकर नमक डालकर रोगी को खिलाने से हिचकी रुक जाती है।
  49.     10 मिलीलीटर प्याज के रस में 10 ग्राम शहद को मिलाकर उसे चाटकर खाने से हिचकी जल्द बंद हो जाती है।
    प्याज काटकर नमक डालकर हर घंटे के अंतर से खाने से हिचकी नहीं आती है।
***