Jai Mata Di!

Recent Posts

पेन किलर लेने के नुकसान - Side Effects Of Pain Killer Drugs

रोज़मर्रा में होने वाले सिरदर्द, पैर दर्द या हल्के बुख़ार में फौरन राहत पाने के लिए अक्सर लोग बिना सोचे समझे ही पेन किलर खा लेते हैं। हम सभी जानते हैं कि दवाओं के साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। बावजूद इसके हम सभी ये गलती कर बैठते है। आइये जानें पेन किलर खाने से हमारे शरीर को कौन से  नुकसान पहुंचते हैं।

  1.     कोपेनहेगन यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल, डेनमार्क के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में ये पाया कि इबूप्रोफेन के अधिक इस्तेमाल से ऐसे लोगों का मृत्यु का जोखिम बढ़ता है जिन्हें कभी हार्ट अटैक हो चुका हो। ऐसे मरीज़ों का ख़तरा, ये दवा खाने के बाद 59% तक बढ़ जाता है।
  2.     प्रॉसीडिंग्स ऑफ दि रॉयल सोसाइटी बी में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, फ्लू फीवर को ठीक करने के लिए पेनकिलर खाने से स्थिति और खराब हो सकती है। पेनकिलर फ्लू के बढ़ने के 5% चांस और बढ़ा देती हैं।
  3.     आप जो भी दवाई लेते हैं वो आपके खून में मिल जाती है और फिर किडनी से फिल्टर होने के बाद ही शरीर से निकली है। इस प्रक्रिया में, ये ड्रग किडनी तक हो रहे खून के बहाव को प्रभावित कर सकता है जिससे कि एलर्जिक रिएक्शन हो सकता है या किडनी को नुकसान पहुंच सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक, इस तरह की दवाओं के कारण ही 20 प्रतिशत से ज्यादा किडनी फेलियर के मामले होते हैं।
  4.     नेशनल इंसीट्यूट फॉर हेल्थ एंड क्लीनिकल एक्सीलेंस (एनआईसीइ) के अनुसार सिरदर्द के लिए पैरासिटामोल, एस्प्रिन और नॉन स्टीरॉइडल एंटी-इनफ्लेमेटरी ड्रग जैसे कि इबूप्रेन (एक महीने में 15 दिन से ज्यादा) आदि खाने वाले लोग ओवयूज़ कर रहे होते हैं। कुछ समय बाद ऐसे लोगों के और ज्यादा सिरदर्द होने लगता है।
  5.     ड्रग एडिक्शन पूरी दुनिया का एक गंभीर समस्या बन चुका है, लेकिन पेनकिलर अमेरिका में पेन किलर के गलत इस्तेमाल की स्थिति चौंकाने वाली है, ख़ासतौर पर किशोरों में। प्रेसक्रिप्शन मेडिकेशन की लत आपको मौत तक ले जा सकती है। यहां तक कि डॉक्टर भी पेनकिलर की लत को ठीक करना सबसे मुश्किल मानते हैं।
  6.     पेनकिलर भी आपके डिप्रेशन का कारण हो सकती है। शोधकर्ताओं ने पाया कि ओपिओड जैसी पेन किलर का लंबे वक्त तक इस्तेमाल करने से डिप्रेशन हो सकता है। अध्ययन में शामिल लोगों ने 80 से अधिक दिन ओपिओडि खाई और उनका डिप्रेशन का जोखिम 53 प्रतिशत बढ़ गया।

***