होली में खतरनाक हो सकते हैं नीले और हरे रंग

होली पर रंगों की बहार होती है, लेकिन इसके साथ ही खतरा होता है सेहत को। क्या आप जानते हैं कि होली पर रंगों से स्‍वास्‍थ्‍य को बेहद नुकसान पहुंचता है। लेकिन इससे भी अधिक आश्चर्य की बात है कि होली के कुछ रंग ऐसे हैं जिनके इस्तेमाल से आपको कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। जी हां, कुछ खास कलर आपके स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

ये कलर आमतौर पर गहरे रंगों में शामिल होते हैं। इसीलिए आपको रंगों के इस्तेमाल के दौरान अपनी सेहत का भी खासा ध्यान रखना चाहिए। आप यदि हर्बल रंगों का इस्तेमाल करेंगे तो आप निश्चित रूप से रंगों के दुष्प्रभाव से बच पाएंगे। लेकिन आपके लिए यह भी जानना जरूरी है कि आखिर वे कौन से रंग जो आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। तो आइए जानें क्या सचमुच होली में खतरनाक हो सकते हैं नीले और हरे रंग।

खतरनाक हो सकते हैं नीले और हरे रंग
  1.     गहरे रंगों से आप गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। आप अधिक गहरे रंगों का इस्तेमाल करके स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं को स्वंय दावत देते हैं।
  2.     हाल में ही आए शोधों के मुताबिक, गहरे रंगों खासकर हरे और नीले रंगों से आपको स्‍वास्‍थ्‍य समस्याएं हो सकती हैं।
  3.     दरअसल, इन गहरे रंगों का संबंध ऑक्यु‍लर टॉक्सिसिटी से है। जो कि आंखों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। हालांकि बाजार में आकर्षक रंगों की भरमार है और ये रंग भी टॉक्सिक से भरपूर हैं इनसे ही स्‍वास्‍थ्‍य समस्याएं बढ़ जाती हैं।
  4.     आंखों को नुकसान पहुंचाने वाले मैलाशाइट ग्रीन का इस्तेमाल भी होली के दौरान खूब होता है। जो कि आंखों में एलर्जी, खुजलाहट का कारण बनता है। इतना ही नहीं यदि इन रंगों को कॉर्नियाल के पास लगाया जाता है तो आंखों में एपिथीलि‍यल को नुकसान पहुंच सकता हैं।
  5.     कुछ गहरे रंगों में मिलावट किए जाने वाले कांच के टुकड़ों, सीसी, एसिड इत्यादि से आपको स्किन एलर्जी या फिर त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा भी गहरे रंगों खासतौर पर हरे और नीले रंगों से आपको खुजली की समस्या या फिर सांस संबंधी समस्याएं भी हो जाती हैं।
  6.     शोधों में ये बात भी सामने आई है कि यदि हरे और नीले रंग त्वचा पर बहुत अधिक देर तक रहते हैं या हरे और नीले रंगों का होली के दौरान बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है तो आपको कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। जिन लोगों का इम्युन सिस्टम कम होता है उनके लिए यह और भी खतरनाक है।
  7.     कई बार रंगों से आपका त्वचा संक्रमण के साथ ही घाव भी हो सकते हैं, जो कि आपको अस्वस्थ भी कर सकते हैं।
  8.     यदि आप हरे और नीले रंग को होली के दौरान तेल के साथ इस्तेमाल करते हैं तो आपको अधिक समस्या हो सकती हैं। इसीलिए विशेषज्ञ होली में प्राकृतिक रंगों या हर्बल रंगों के इस्‍तेमाल पर अधिक दबाव डालते हैं।
  9.     आपको रासायनिक रंगों, एल्कोहल का सेवन और पानी इत्यादि के संपर्क में आते ही आपको समस्याएं शुरू होने लगती हैं।
  10.     इस बार होली पर सावधान रहते हुए आपको सूखे रंगों से या हबर्ल रंगों से होली खेलनी चाहिए। आप चाहे तो घर में बने रंगों से भी अपनी होली को दमदार बना सकते हैं। इससे आपको ना तो नीले और हरे रंगों से होली पर खतरा होगा और ना ही आपकी होली बदरंग होगी।
***