गोरी त्वचा और लंबे बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी के बेहतरीन फायदे!!

मुल्तानी मिट्टी एक ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो त्वचा और बाल दोनों को स्वस्थ और सुंदर बनाये रखने में बहुत मदद करता है। मुल्तानी मिट्टी (fuller’s earth) का प्रयोग युगों से सौन्दर्य संबंधी उपचार के लिए किया जाता रहा है। मुल्तानी मिट्टी प्रकृति का अनमोल वरदान है जो बाल और त्वचा संबंधी किसी भी समस्या से लड़ने में मदद करता है। मुल्तानी मिट्टी के लिए सबसे अच्छी बात यह होती है कि यह सस्ता होता है और आसानी से पाया जा सकता है। मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल भी आप बहुत ही सरल और सामान्य तरीके से अपने घर में कर सकते हैं।

त्वचा- मु्ल्तानी मिट्टी में जो एन्टीसेप्टिक का गुण होता है वह त्वचा संबंधी समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। त्वचा संबंधी चार समस्याओं से लड़ने में मुल्तानी मिट्टी का पैक बहुत मदद करता है, दाग धब्बों को कम करने में मदद करता है- कभी-कभी धूप में ज़्यादा देर रहने पर या प्रदूषण के कारण चेहरे पर दाग-धब्बे बन जाते हैं और आपके सौन्दर्य पर दाग लग जाता है। मुल्तानी मिट्टी और दही का पैक इससे राहत दिलाने में बहुत मदद करेगा।

विधि- एक कटोरी में मुल्तानी मिट्टी और दही लें और दोनों को अच्छी तरह से आधा घंटा तक भिगने दें। उसके बाद उसमें पुदीना का पावडर डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस पैक को दाग वाले जगह पर लगाकर तीस-मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें। फिर उसको गुनगुने गर्म पानी से धो लें। इस पैक के रोजाना इस्तेमाल से दाग-दब्बे धीरे-धीरे कम होने लगते है।

मुँहासों से छुटकारा दिलाने में मदद करता है – प्रदूषण और अपनी त्वचा की देखभाल अच्छी तरह से न करने के कारण चेहरे पर मुँहासे निकलने लगते हैं। मुल्तानी मिट्टी और नीम का पेस्ट मुँहासों का निकलना कम करने में मदद करता है।

विधि- एक कटोरी में एक छोटा चम्मच नीम का पावडर या पेस्ट ले, उसमें दो छोटा चम्मच मुल्तानी मिट्टी, ज़रूरत के अनुसार गुलाब जल, एक चुटकी कपूर, और चार-पाँच लौंग को पीसकर बनाया हुआ पावडर डालकर पैक को बना लें। चेहरे पर मुँहासो वाली जगह पर पैक को अच्छी तरह से लगाकर दस से पंद्रह मिनटों तक लगाकर रखें। सूखने के बाद पानी से धो लें।

झुर्रियों को उम्र से पहले आने से रोकता है- जैसा ही आप युवा अवस्था से वयस्क अवस्था में कदम रखने लगते हैं आपकी त्वचा अपनी रौनक खोने लगती है। लेकिन मुल्तानी मिट्टी का पैक इस समस्या से जल्द राहत दिलाने में मददगार साबित होता है।

विधि- एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच मुल्तानी मिट्टी के साथ समान मात्रा में दही लें और उसमें एक अंडा फोड़कर डालें। इस पैक को मुलायम बनाने के लिए अच्छी तरह से मिला लें। इस पैक को चेहरे पर लगाकर बीस मिनटों तक सूखने के लिए छोड़ दें और फिर गुनगुने गर्म पानी से धो लें। पैक को धोने के बाद आपको अलग ही तरह का ताजगी महसूस होगा।

बाल- आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि मुल्तानी मिट्टी सिर्फ त्वचा संबंधी समस्याओं से लड़ने में ही मदद नहीं करता है बल्कि बालों के कई समस्याओं से राहत दिलाने में भी मदद करता है। यह स्कैल्प से अतिरिक्त तेल को सोखने में मदद करता है। यह बालों से रूसी की समस्या से राहत दिलाने में और कन्डिशनिंग करने में मदद करता है। रूखे बालों को स्वस्थ करने में मदद करता है- कभी-कभी प्रदूषण या बूरे खान-पान का असर बालों पर होता हैं और वे रूखे और बेजान हो जाते हैं। मुल्तानी मिट्टी, दही और नींबू का पैक बालों को रेशम जैसा बनाने में मदद करते हैं।

विधि- एक कटोरी में चार छोटा चम्मच मुल्तानी मिट्टी, ½ कप दही, आधा नींबू का रस, दो छोटा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पैक को बना लें। दही बालों का झड़ना कम करता है और नींबू रूसी की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। शहद बालों को काला और घना बनाने में मदद करता है। इस पैक को बालों में अच्छी तरह से लगाकर तीस मिनट तक रख दें फिर शैंपू से धो लें।

बालों को स्वस्थ रखने में मदद करता है- चेहरे की तरह बालों को स्वस्थ रखना भी ज़रूरी होता है। मुल्तानी मिट्टी का पैक आपके लंबे काले बालों को स्वस्थ और सुंदर बनाये रखने में मदद करता है।

विधि- एक कप मुल्तानी मिट्टी में पाँच छोटा चम्मच चावल का पावडर, एक अंडे की सफेदी डालकर अच्छी तरह से मिला लें। फिर इस पैक को स्कैल्प और बालों में अच्छी तरह से लगाकर दस मिनट तक रखें और फिर शैंपू से धो लें।
***