होली की असावधानी आपकी सेहत पर भारी

होली रंगों का त्‍यौहार है। होली में आप सब कुछ भूलकर मस्ती के रंग में डूब जाते हैं। लेकिन होली में थोड़ी सी भी असावधानी आपके सेहत के लिए भारी पड़ सकती है। कहीं यह मस्ती आपको लिए परेशानी का सबब ना बन जाए इसलिए अपनी सेहत का रखें खास ख्याल। आईए जानें होली में कैसे रखें अपनी सेहत का ख्याल!
 
होली में सावधानी
  1.     आप जब होली की मस्ती में डूबे होते हैं तो कई बार होली खेलते हुए रंग आंखों में चला जाता है। इन रंगों में केमिकल्स होने के कारण आंख लाल हो जाती है और उससे पानी आने लगता है। आंखो में जलन होने लगती है। ऐसे में आंखों को पानी से धोएं और आंखों को रगड़ें बिलकुल भी नहीं। ज्यादा समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
  2.     आजकल बाजारों में मिलने वाले रासायनिक रंग शरीर के अन्य हिस्सों पर भी बुरा असर डालते हैं। जहां तक संभव हो सूखे रंगो, गुलाल व हर्बल कलर से होली खेलें। हर्बल कलर हमारी त्वचा को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं और आसानी से निकल भी जाते हैं।
  3.     होली खेलने के बाद जितनी जल्दी हो सके रंगो को छुड़ा दें। ज्यादा देर तक त्वचा पर रंग लगने से आपको त्वचा संबंधी समस्या हो सकती है।
  4.     सिर से जितना सूखा रंग झाड़ कर निकाल सकते हैं, निकाल दें। क्योंकि रसायनिक रंग ज्यादा देर तक सिर पर रहने से बालों को तो नुकसान पहुंचता ही है साथ ही आपको चक्कर आना सिर भारी होने की समस्या भी हो सकती है।
  5.     शरीर से रंग छुड़ाने के कभी भी मिट्टी का तेल और केमिकल डिटर्जेंट या कपड़े धोने का साबुन इस्तेमाल में न लाएं। इससे एक्जिमा होने की समस्या हो सकती है।
  6.     होली में पानी वाले गुब्बारे से नहीं खेलें ना ही दूसरों पर फेंके। इससे कानों में पानी जा सकता है और कान संबंधी समस्या होने का खतरा रहता है।
  7.     होली में गहरे रंगों जैसे काला, हरा, बैंगनी, नीले रंगो का इस्तेमाल नहीं करें। इससे कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता है।
  8.     अगर आपकी त्वचा पर कोई घाव या चोट लगी है तो होली बिल्कुल नहीं खेलें क्योंकि ऐसे में रंग में मिले रासायनिक तत्व घाव के माध्यम से रक्त में मिलकर आपको नुकसान पहुंचा सकते  हैं।
  9.     रसायनिक रंगो से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप रंग को पहले अपने हाथों पर लगाकर उससे होने वाले प्रभाव को चेक कर लें।
  10.     होली में भांग व अन्य किसी भी तरह का नशा करने से बचना चाहिए।

***