कलौंजी और कलौंजी का तेल: जानिये क्या हैं फायदे - Benefits of Kalaunji Oil

कलौंजी (Nigella sativa or Black Seeds) हमारे देश में लगभग हर रसोईघर में मिल जायेगी लेकिन इसकी याद सिर्फ तभी ज्यादा आती है जब घर की महिलायें साल भर का अचार बना रहीं हों। लेकिन, कलौंजी का यही सिर्फ एक उपयोग नहीं है। पिछले कुछ वर्षों में कलौंजी और कलौंजी का तेल एक बहुत ही महत्वपूर्ण औषधि बनकर उभरे हैं, जिनका उपयोग कई शारीरिक समस्याओं पर बहुत ही प्रभावकारी सिद्ध हुआ है।

कलौंजी में प्राकृतिक रूप से विटामिन A, B1, B2, C, नियासिन, कैल्शियम, आयरन, सोडियम, पोटेशियम, मैंगनीज, जिंक, और सेलेनियम और बहुत अधिक लाभकारी ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। कलौंजी के बीजों में लगभग 40% कार्बोहायड्रेट, लगभग 20% प्रोटीन, और लगभग 40% तेल होता है। इसमें पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर को हानि पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं और कई रोगों से रक्षा करते हैं।

कलौंजी के बीजों को इस्तेमाल करने के लिए, लगभग 1/2 चम्मच बीज रात को पानी में गला दें और सुबह खाली पेट इन्हे इस्तेमाल करें। अच्छे परिणाम के लिए कम से कम 6 से 8 हफ्ते इस्तेमाल करें। बीजों की जगह अगर आप तेल इस्तेमाल करने का विचार बना रहे हैं तो शुरुआत 1/2 चम्मच तेल से करें, और धीरे धीरे जब आपका शरीर इसके प्रति ग्रहणशील ही जाए तो मात्रा 1 चम्मच तक बढ़ा सकते हैं।

सौंदर्य बढाए
कलौंजी के तेल की नियमित मालिश बालों का झड़ना कम करती है। इसके साथ ही त्वचा पर इसका सेवन मुहांसे और उनसे हुए दागों को हटाने में बहुत प्रभावकारी है। चेहरे की झुर्रियां हटाने के लिए थोड़े से कलौंजी के तेल में लगभग 1 चम्मच शहद मिलायें। अब इस मिश्रण में अपनी पसंद अनुसार ऑलिव ऑयल या जोजोबा ऑयल मिलायें। सभी सामग्री को आपस में अच्छी तरह मिलायें और इससे अपने चेहरे की नीचे से ऊपर और सर्कुलर मोशन में अच्छी तरह मालिश करें। अच्छे परिणामों के लिए नियमित रूप से हफ्ते में कम से कम दो बार इस्तेमाल करें।
आइये जानते हैं कलौंजी का उपयोग कर बनाये गए एक ऐसे हेयर पैक के बारे में जो गंभीर बालों के झड़ने की समस्या, डेंड्रफ, सफ़ेद बाल जैसी समस्याओं के लिए 100% इफेक्टिव और कारगर है


***