सिर्फ 30 सेकंड में हो सकेगी डेंगू की जांच, खर्च आएगा महज 15 रुपये

आने वाले समय में डेंगू की जांच के बाद परिणाम के लिए लोगों को घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। आइआइटी, दिल्ली में तैयार की जा रही सेंसर आधारित सिल्वर नैनो वायर किट से जांच का परिणाम महज 30 सेकंड में मिल जाएगा।

आइआइटी, दिल्ली के बायोकेमिकल विभाग के प्रोफेसर प्रशांत मिश्र और भौतिकी के प्रोफेसर जेपी सिंह मानव संसाधन विकास मंत्रालय की इमप्रिंट इंडिया योजना के तहत सेंसर आधारित सिल्वर नैनो वायर किट तैयार करने की कोशिश में जुटे हैं।

प्रोफेसर जेपी सिंह ने बताया कि पीसीआर आधारित डेंगू की जांच से परिणाम आने में काफी समय लग जाता है और उसके नतीजे भी सटीक नहीं होते हैं। सेंसर आधारित नैनो वायर किट से जांच के नतीजे 30 सेकंड में मिल जाएंगे। यह डेंगू बीमारी की प्रारंभिक अवस्था में ही पहचान करने में सक्षम है।

उन्होंने बताया कि इसके लिए एक छोटी सी मशीन भी तैयार की जा रही है, जिसे रामा बेस्ड इंस्टूमेंट नाम दिया गया है। इसकी खास बात यह है कि इसे जेब में रखकर मच्छरजनित बीमारियों से संक्रमित जगहों पर ले लाया जा सकता है, जहां सिल्वर नैनो वायर किट के साथ जांच में इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा।

उन्होंने बताया कि इमप्रिंट इंडिया योजना में देश भर के 60 प्रोजेक्ट शामिल किए गए हैं। इसमें उनका भी प्रोजेक्ट है। इसे पूरा करने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से अप्रैल से वित्तीय मदद मिलनी शुरू हो जाएगी। इसके बाद उन्हें प्रोजेक्ट को पूरा करने में तकरीबन दो साल लगेंगे।

15 रुपये होगी कीमत

प्रोफेसर सिंह ने कहा कि इसका एक बार ही प्रयोग हो सकेगा। बेहतर परिणाम आने के बाद इसे बाजार में उपलब्ध कराने पर भी विचार किया जा सकता है। इसकी कीमत तकरीबन 15 रुपये होगी।
***