माँ का दूध (ब्रेस्ट मिल्क) बढ़ाने के लिए क्या खाएं – Foods for Increasing Breast Milk in Hindi

मां का दूध वसा, चीनी, पानी और प्रोटीन के इष्टतम संतुलन के साथ बच्चों के लिए बेहद पौष्टिक है। ये सभी पोषक तत्व एक बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए आवश्यक होते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार जब तक बच्चे 6 महीने के नहीं हो जाते हैं तब तक उनको स्तनपान कराना चाहिए। यहाँ हम आपको स्तन के दूध की आपूर्ति को बेहतर बनाने में मदद करने वाले कुछ खाद्य पदार्थो के बारे में बता रहे हैं:-

1. माँ का दूध बढ़ाने का उपाय है दलिया – Oatmeal for Breast Milk Production in Hindi
दलिया स्तनपान कराने वाली माताओं में मां के दूध की मात्रा के साथ दूध की गुणवत्ता को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है। इससे दूध का उत्पादन बढ़ता है। कई महिलाओं ने यह माना है कि जई का दलिया खाने से उनके दूध की मात्रा में वृद्धि हुई है।

यह लोहे की कमी से एनीमिया को रोकने में भी मदद करता है, जो नई माताओं में आम समस्या होती है।
एक कटोरा गर्म दलिया कई महिलाएं के लिए एक सुखदायक भोजन के रूप में कार्य करता हैं जो बच्चे के जन्म के बाद तनाव और अवसाद से पीड़ित होती है। कच्चे शहद, इलायची, कटे हुए नट्स, जामुन या केसर स्वाद बढ़ाने के लिए एक चम्मच पके हुए दलिये में मिलाएँ। आप दलिया बिस्कुट या कुकीज़ का भी आनंद ले सकते हैं।

2. ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के उपाय करें बादाम से – Almonds for Breast Milk in Hindi
बादाम और काजू जैसे मेवे ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढाने में सहायक होते हैं। इसके अलावा यह प्रोटीन, फाइबर, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट्स के साथ परिपूर्ण है जो कि मां के समग्र स्वास्थ्य के साथ-साथ उसके नवजात बच्चे के लिए भी महत्वपूर्ण होते हैं।

यह कैल्शियम का अच्छा गैर डेयरी स्रोत भी है। यह एक स्वस्थ नाश्ता है जो आपको भोजन के बीच संतुष्ट रहने में भी मदद करता है।

दैनिक 5 या 6 भीगे हुए बादाम का आनंद लें, लेकिन भुने हुए और नमकीन बादाम खाने से बचें, अच्‍छा होगा कि आप इन्‍हें कच्‍चा ही खाएं।
नोट: बादाम ना खाएँ अगर आपको इस प्रकार के मेवो से एलर्जी।

3. स्तन का दूध बढ़ाएँ नारियल तेल से – Coconut Oil for Breast Milk in Hindi
नारियल का तेल भी दोनों गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए स्वस्थ माना जाता है। इसमें ओमेगा -3 फैटी एसिड के रूप में आवश्यक फैटी एसिड होता है जो कि मां के दूध के उत्पादन के लिए जिम्मेदार हार्मोन के उत्पादन में मदद करता है।

इसके अलावा, नारियल तेल में प्रतिरक्षा बढ़ाने के गुण होते हैं और नई माँ को बच्चे की देखभाल करने के लिए बहुत आवश्यक ऊर्जा प्रदान करते हैं।

स्तनपान कराने वाली मां को दिन में नारियल तेल के 1 से 3 बड़े चम्मच खाने चाहिए। आप इसका इस्तेमाल सलाद ड्रेसिंग के लिए भी कर सकते हैं।

4. माँ का दूध बढ़ाने के नुस्खे होते हैं संतरे – Oranges for Breast Milk Production in Hindi
संतरे की उच्च विटामिन सी सामग्री मां के दूध की आपूर्ति के लिए महत्वपूर्ण है। खाद्य एवं पोषण बुलेटिन में प्रकाशित एक 2002 के अध्ययन के अनुसार मां के दूध की विटामिन सी सामग्री संतरे के विटामिन सी के बराबर होती है। इस अध्ययन में विटामिन सी से संपन्न सब्जियों और फलों की खपत बढ़ाने की जरूरत पर प्रकाश डाला गया है।

संतरे भी इस तरह के विटामिन ए और बी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और फास्फोरस के रूप में अन्य पोषक तत्वों के साथ परिपूर्ण हैं। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने और गर्भावस्था के कारण वजन से उबरने के लिए अच्छा है।

स्तनपान के समय, दैनिक रूप से 2 गिलास संतरे का रस पीना चाहिए। अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए संतरे के रस के साथ-साथ, पानी, सूप, मलाई निकला हुआ दूध आदि चुनें।

नोट: बहुत ज्यादा संतरे का रस पीने से बचें, साइट्रिक एसिड के रूप में यह आपके बच्चे के पेट में उधम या गैस बना सकता है।

5. स्तन का दूध बढ़ाएँ मेथी से – Fenugreek for Breast Milk Production in Hindi
इसमें आयरन, विटामिन, कैल्‍शियम और मिनरल पाएँ जाते हैं। मेथी का प्रयोग कई पुराने सालों से किया आता जा रहा है। प्रसव के बाद की आम समस्याओं को कम करने में भी मदद करती है जैसे पेट फूलना और शरीर में दर्द आदि।

चाय बनाने के लिए, रात भर 1 चम्मच बीज पानी में भिगो कर रखें और सुबह में इस घोल को उबालकर पिएं। आप अपने सूप में थोड़ा सा मेथी पाउडर भी मिला सकते हैं, साथ ही अपने सूप, खिचड़ी या सलाद के लिए ताजा मेथी के पत्ते मिला सकते हैं। लेकिन इसे ज्‍यादा ना खाएं वरना डीहाइड्रेशन भी हो सकता है। मेथी को कच्‍चा खाने की बजाए इसको सब्‍जी में डाल कर खाएं।

नोट: मेथी का सेवन ना करें यदि आप मधुमेह रोगी है या मूंगफली एलर्जी से पीड़ित है। इसको गर्भावस्था के दौरान लेने की सलाह नहीं दी जाती है।

6. माँ का दूध बढाने के उपाय करें अंडे से – Eggs for Breast Milk in Hindi
यह स्वादिष्ट और बहुमुखी भोजन स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए अच्छा है। अंडे प्रोटीन, विटामिन बी 12 और डी, राइबोफ्लेविन, फोलेट और कोलीन में समृद्ध होते हैं।

मनोरोग के अमेरिकी जर्नल में प्रकाशित एक 2013 के अध्ययन के अनुसार कि गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान बढ़ता कोलीन का सेवन सामान्य मस्तिष्क के विकास को बढ़ावा देता है जिससे शिशुओं की भविष्य में होने वाअली बीमारियों से की रक्षा हो सकती है।

अंडे की जर्दी विटामिन डी में समृद्ध है, जो नवजात शिशुओं के लिए महत्वपूर्ण होती है। अंडे में अच्छी गुणवत्ता वाले प्रोटीन और आवश्यक अमीनो एसिड का एक सही संतुलन होता है।

दैनिक रूप से आप अपने आहार में कुछ अंडे शामिल करें। आप उन्हें तल कर, उबाल कर या एक आमलेट या अंडे के सलाद आदि तरीक़ो से तैयार करके खा सकते हैं।

7. माँ का दूध बढ़ाने का तरीका है सैमन – Salmon for Breast Milk in Hindi
मछली, विशेष रूप से सैमन , गर्भवती के आहार के साथ साथ स्तनपान कराने वाली माताओं के आहार में भी शामिल की जानी चाहिए। सैमन प्रोटीन, विटामिन डी और डीएचए का बहुत अच्छा स्रोत है। यह ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक प्रकार है जो कि बच्चे के तंत्रिका तंत्र (nervous system) के विकास के लिए महत्वपूर्ण है।

जर्नल में प्रकाशित एक 2012 के अध्ययन के अनुसार सैमन का सेवन करने से स्तनपान के दौरान मां के दूध की गुणवत्ता में काफी सुधार होता है।

प्रति सप्ताह गर्भावस्था के दौरान सैमन के 2 भाग खाना नवजात शिशुओं के लिए महत्वपूर्ण फैटी एसिड की आपूर्ति में सुधार करता है।

8. स्तन का दूध बढाने की दवा है गाजर – Carrots for Breast Milk in Hindi
गर्भावस्था से लेकर स्तनपान की अवधि तक, महिलाओं को गाजर की तरह विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थों को खाने की कोशिस करनी चाहिए। भ्रूण और नवजात शिशु के स्वस्थ विकास के लिए विटामिन ए सहायक है।

पोषण के जर्नल में प्रकाशित 2001 में एक अध्ययन के अनुसार पका हुआ पपीता और कसे हुए गाजर का सेवन करने से स्तनपान कराने वाली महिलाओं के दूध की गुणवत्ता में सुधार होता है। इसका सेवन करने से विटामिन ए की कमी पूरी हो जाती है।
इसके अलावा, गाजर में अल्फा और बीटा कैरोटीन होते हैं, जो स्तन के ऊतकों के स्वास्थ्य और स्तनपान को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।

अपने सलाद या सूप में गाजर को शामिल करें या एक गिलास ताजा गाजर के रस के साथ अपने दिन की शुरुआत करें।

9. पालक का सेवन ब्रेस्ट मिल्क बढाने के लिए – Spinach for Breast Milk in Hindi
पालक के रूप में अन्य पत्तेदार हरी सब्जियां जैसे गोभी, स्विस चार्ड, कोल्लार्ड्स और ब्रोकोली नर्सिंग माताओं के लिए बहुत ज़रूरी है।

पालक में विटामिन ए, आपके बच्चे के स्वस्थ विकास को सुनिश्चित करता है जबकि इसके एंटीऑक्सीडेंट आपके बच्चे की प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं। यह शाकाहारी माताओं के लिए कैल्शियम का एक बड़ा गैर डेयरी स्रोत भी होता है। इस पत्तेदार सब्जी में फोलेट भी होता है।

इसके अलावा, पालक, महिलाओं के प्रसव के दौरान खून की कमी के लिए बेहद फायदेमंद है। नर्सिंग माताओं को पालक से बना खाना खाने की सलाह दी जाती है।

10. माँ का दूध बढ़ाने के तरीके करें ब्राउन राइस से – Brown Rice Breast Milk in Hindi
भूरे रंग के चावल एक और सुपेरफूड़ जो कि नर्सिंग माताओं के दूध उत्पादन को बढ़ावा दे सकते हैं। भूरे चावल इसकी उच्च फाइबर और पोषक तत्व सामग्री की वजह से अब तक सफेद चावल की तुलना में बेहतर है।

इसके अलावा, यह आपके शरीर के लिए आवश्यक कैलोरी प्रदान करता है जो अच्छी गुणवत्ता वाले मां के दूध का उत्पादन करती है।

पोषण के यूरोपीय जर्नल में प्रकाशित एक 2007 के अध्ययन के अनुसार अंकुरित भूरे रंग के चावल का नियमित सेवन करने से स्वास्थ्य पर लाभकारी प्रभाव पड़ता है। यह स्तनपान के दौरान मानसिक स्वास्थ्य और प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

लंच या डिनर के लिए पके हुए भूरे रंग के चावल का एक कप ठीक है। हालांकि, खाना पकाने से पहले कुछ घंटे के लिए पानी में अनाज सोखना सुनिश्चित करें। इससे चावल पकाने के लिए आसान हों जाएँगे।
***