इन 3 आसान तरीकों से घर में जमायें गाढ़ा दही ; Best Tips for Preparing Thick Curd at Home

कैल्शियम का सबसे अच्छा स्रोत और प्रोटीन की प्रचुर मात्रा वाला दही एक शानदार प्राकृतिक प्रोबायोटिक है। यह पेट को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है। वैसे तो आजकल बाजार में दही के कई ब्रांड मौजूद है लेकिन फिर भी दही हमेशा घर का ही इस्‍तेमाल करना चाहिए। क्‍योंकि अच्‍छे जीवाणुओं से बना दही रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है और भोजन से होने वाली एलर्जी को कम करता है। घर में ताजी और गाढ़ी दही जमाने के कई तरीके हैं। आइए इस आर्टिकल के माध्‍यम से तीन तरीकों के बारे में जानकारी लेते हैं।

थोड़े से दही से जमायें दही  
यह दही जमाने का सबसे पुराना तरीका है। इसके लिए दूध को उबालें और उसे ठंडा होने दें। जब दूध गुनगुना हो जाए तब उसमें दही का जामन डालें और अच्छी तरह मिलाएं। चाहें तो दूध को दो बर्तनों में अच्छी तरह उलट-पलटकर जामन को मिलाया जा सकता है। इसको ढककर 3-4 घंटे तक जमने के लिये रखें। दही जम जाने के बाद उसको एक घंटे के लिए फ्रिज में रखें जिससे वह थोड़ा सख्त हो जाए। अब यह परोसने के लिये तैयार है। आधे लीटर दूध में एक चम्मच दही डालें और दूध की मात्रा के हिसाब से दही मिक्स करें।

माइक्रोवेव ओवन में जमायें दही
अगर आप दही को जल्‍दी जमाना चाहते हैं तो इसके लिए माइक्रोवेव ओवन का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए हल्‍के गुनगुने दूध में जामन लगाकर इसे ढक कर रख दें। फिर माइक्रोवेव को 180 डिग्री पर दो मिनट के लिए प्री हीट करके स्विच बंद कर दें। अब इसमें दूध का बर्तन रख दें। मगर ओवन का ढक्कन बंद ही रखें, दही तीन या चार घंटे में जम जाएगा।

मिर्च डालें और दही जमायें
जब भी दही जमाने की बात आती है तो सब के पास केवल एक ही नुस्खा होता है जिसके तहत आप पुराने दही को दूध में मिलाकर दही जमाते है। लेकिन यदि आपके पास पुराना दही नहीं हो तो क्या करेंगे? अरे घबराइए नहीं क्‍योंकि नए तरीके यानी मिर्च की मदद से भी आप दही जमा सकते हैं। इसके लिए आपको सूखी लाल मिर्च की जरूरत होती है। आधा किलो दूध उबालें और फिर उसे ठंडा होने दें। जब दूध गुनगुना हो जाए तो 2-3 सूखी साबुत लाल मिर्च (डंठल सहित) दूध के बीचों बीच डाल दें। सूखी लाल मिर्च में लैक्टोबैसिल्ली होता है, यह एक प्रकार का बैक्टीरिया है, जिसकी मदद से दूध से दही बनता है। हालांकि इस तरीके से दही जमाने से दही ज्यादा गाढ़ा नहीं होता लेकिन इससे आप जो दही जमाएंगे, उस दही से दूसरा दही बहुत गाढ़ा जमता हैं।

घर पर दही जमाने पर इन बातों का रखें ख्याल
    गाढ़ा दही जमाने के लिए फुलक्रीम दूध का इस्‍तेमाल करें।
    जिस जामन से आप दही जमा रहे हैं वो बहुत ज्यादा खट्टा न हो।
    जिस बर्तन में दूध उबालें, उसी में दही न जमाएं।
    तेज गर्म दूध में दही मिलाकर दही न जमाएं, इससे वह पानी छोड़ देता है।
    दही जमाने के वक्त दूध बहुत ज्‍यादा गर्म या बिल्‍कुल ठंडा नहीं होना चाहिए।
    सर्दियों में दही जमाने के लिए थोड़ा ज्यादा दही मिलाएं।
    गर्मियों की अपेक्षा सर्दियों में दही जमने में ज्यादा समय लगता है।
***