खाना खाने के बाद गलती से भी मत करना ये 7 काम, वरना पड़ेगा महंगा

हर इंसान के भीतर बुरी आदतें होती है जिसे करने से वे बाज नही आते। उनकी यही आदतों की वजह से कभी कभी जान पर भी बन आती है और शरीर को भारी नुकसान सहना पड़ता है। लोग अपनी जिंदगी में इतने व्यस्त हैं कि खाना खाते ही अपने काम मे लग जाते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद काम करने से होने वाले नुकसान के बारे में लोग जानते ही नही हैं। आज हम बताएंगे ज़िन्दगी के कुछ ऐसी गलत आदतों के बारे में जिससे हम जाने अनजाने में अपनी सेहत को मुश्किल में डाल देते हैं। जरा गौर से पढ़ लो कहीं आप भी तो नही हो रहे इसका शिकार…

1. खाना खाने के बाद नहाना
खाने के चरण बाद स्नान नही करना चाहिए। इससे पाचन क्रिया में प्रॉब्लम होता है। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि लोग खड़े होकर नहाते हैं इससे ब्लड ऊपर से नीचे तो जाता है पर पेट की बगल से होकर स्राव नही होता। इससे प्रत्यक्ष रूप से शरीर को नुकसान होता है। खाने के बाद कम से कम 30 मिनट आराम करना चाहिए फिर ही स्नान करना चाहिए।

2. फल का सेवन
अगर आप भी दूसरों की तरह एसिडिटी के रोगी हैं तो कहना के बाद फल सही नही है। इसका कारण यह है कि फल पेट मे जाने के बाद खाने को पचने से रोकता है इससे पेट की बीमारी होने की आशंका है।

3. खाने के बाद चाय
लोग अनेक गलतफहमी पाल रखे हैं कि चाय से खाना जल्दी पचता है। दरअसल सच्चाई तो यह है कि चाय अंदर जाते ही महत्वपूर्ण पोषक तत्त्वों को सोख कर आपजो कमजोर कर देता है। अगर चाय पीने की आदत ही है तो 1 घंटे का गैप रखें।

4. खाने के बाद ठंडा पानी
आजकल पार्टी में ठंडे पानी का प्रचलन बढ़ता जा रहा लोग खाते ही ठंडे पानी का सेवन करते हैं। ये ठंडा पानी भोजन को जकड़ कर उसे पचने नही देता। इसलिए आइंदा से कभी खाना खाने के बाद कोल्ड ड्रिंक से परहेज करें।

5. खाने के बाद सोना
अक्सर लोग खाने खाने के बाद आराम करने की इच्छा से सो जाते हैं। ये हमारे सेहत को गहरा नुकसान पहुँचाता है। ऐसे में खाना पेट के किनारे पर आ जाता है और पाचन क्रिया के बाध्यता उत्पन्न होता है।

6. खाने के बाद चलना
खाद्य किया के बाद इंसान को टहलना नही चाहिए। इससे भी पाचनतंत्र को विफलता मिलती है। आपने महसूस किया होगा कि इससे पेट दर्द होना शुरू हो जाता है। इसलिए कम से कम 15 मिनट का गैप रखें।

7. खाने के बाद धूम्रपान
सभी जानते हैं कि धूम्रपान सेहत को नुकसान पहुँचाता है। पर कुछ का मानना है कि सिगरेट से भोजन जल्दी पचता है पर यह गलत है। इससे कैंसर की संभावना और भी बधं जाती है।

सिर्फ 5 दिन तक किशमिश भिगोकर खाने के बाद का असर जानकर हैरान रह जायेंगे आप

ड्राई फ्रूट्स शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद होते है और चाहे आप किसी भी ड्राई फ्रूट का सेवन अगर एक निश्चित मात्रा में करते है तो फिर आपको ये खूब फायदा पहुंचाएगा तो उनमे से एक ख़ास ड्राई फ्रूट किशमिश भी है हालाँकि इसका इस्तेमाल लोग अपने सिर्फ स्वाद के लिए करते है

लेकिन जब आप इसके विधिवत इस्तेमाल और उस इस्तेमाल के फायदे जानेंगे तो उन्हें जानकर के आपका हैरान हो जाना भी बेहद स्वाभाविक सा रहेगा क्योंकि किशमिश  इतनी सी होती है लेकिन आपके शरीर को खूब फायदे देती है और ऐसे में अगर आप किशमिश को भिगोकर के खाते है तो आपके शरीर को और भी ज्यादा फायदा होता है तो चलिए जानते है भिगोकर के खाने पर शरीर को किस तरह के कौनसे फायदे हो सकते है?

    किशमिश में बहुत ही अच्छी मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो आपके शरीर के लिए बहुत ही अच्छा होता है अगर आप किशमिश खाने के साथ जिस पानी में उसे भिगोया गया था उसे पी लेते है तो आपके लिए ये बड़ा ही फायदेमंद साबित होता है क्योंकि इससे पाचन मजबूत होता है।

    किशमिश का इस्तेमाल लगभग एक हफ्ते तक करने से आपका इम्यून पॉवर भी बढ़ने लग जाता है और आपके अन्दर संक्रमण के खतरे काफी हद तक तो ख़त्म ही हो जाते है।

    किशमिश के एंटी बैक्टीरिया गुण के कारण ये आपके मुंह या फिर सांस से आने वाली बदबू को भी खत्म कर देने का काम करता है।

    किशमिश में हल्की मात्रा में केल्शियाम भी मौजूद होता है जो आपकी हड्डियों को काफी हद तक मजबूती प्रदान करने का कार्य करता है।

    किशमिश खाने से रक्त की कमी नही होती है और आप खून की कमी जैसे एनीमिया आदि रोगों से बचे रह सकते है।

    अगर कोई व्यक्ति अकोल्हल से पीड़ित है या फिर उसके लीवर में दिक्कत है तो किशमिश लीवर से विषैले पदार्थो को बाहर कर उसे शुद्ध बनाने का काम करती है।

    किशमिश से आपका दिल भी स्वस्थ रहता है और ये लीवर की ही तरह आपकी किडनी को भी साफ़ और स्वच्छ रखने में बड़ी मददगार साबित होती है।

घर के लड़ाई झगड़े से हैं परेशान? आज ही करे ये उपाय, हमेशा रहेगी शान्ति

वैसे तो हर घर में छोटी मोटी नोक झोक होती रहती हैं. लेकिन कई बार कुछ घरो में लड़ाई झगड़े इतने अधिक बढ़ जाते हैं कि उस घर में चेन से जीना मुश्किल हो जाता हैं. घर में लड़ाई झगड़े कई वजहों से होते रहते हैं. जिस घर में अधिक लड़ाई होती हैं उस घर का वातावरण हमेशा नेगेटिविटी से भरा होता हैं. ऐसे में उस घर में लक्ष्मी भी आना पसंद नहीं करती हैं.

यदि आपके घर मे भी लड़ाई झगड़े होते हैं और आप चाहते हैं कि किसी तरह से उन पर विराम लग जाए और आप सभी फिर से पहले जैसे मिल जुल कर हंसी ख़ुशी से रहो तो आप बिलकुल सही जगह आए हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताएंगे जिनके प्रयोग से कुछ ही दिनों में घर के लड़ाई झगड़े रुक जाएंगे और परिवार के सभी सदस्य मिलजुल कर रहने लगेंगे.

घर के लड़ाई झगड़ो को रोकने के उपाय
1. अपने घर के पास किसी हनुमान मंदिर में जाए. यहाँ आप अपने साथ एक सफ़ेद सूत का धागा भी ले जाए. इस सफ़ेद धागे को हनुमान जी के सिंदूर से रंग दे. अब इस सिंदूरी धागे को घर के मुख्य द्वार पर बाँध दे. ऐसा करने से घर की सारी नकारात्मक उर्जा बाहर चली जाएगी और घर में सुख शान्ति बनी रहेगी.

2. घर में जो व्यक्ति सबसे अधिक लड़ाई झगड़ा करता हैं उसकी कोई पुरानी वस्तु जैसे जूते, चप्पल, कपड़े, बर्तन इत्यादि किसी भिखारी को शनिवार के दिन दान कर दे. ऐसा करने से उस झगड़ालू व्यक्ति की सारी नेगेटिविटी घर से बाहर चली जाएगी और वो सबसे विनम्रता से मिल कर रहने लगेगा.

3. सोमवार को शिव मंदिर में जा कर एक नारियल फोड़े. इस नारियल से निकला पानी को दूध में मिलाए और शिवलिंग पर आधा चढ़ा दे. बाकी बचे नारियल पानी और दूध के मिश्रण को घर ले आए और इसे खीर या अन्य चीज में मिलकर घर के सभी सदस्यों को प्रसादी के रूप में दे. ऐसे करने से घर के सदस्यों के बीच प्यार बढ़ेगा.

4. बुधवार को गणेश मंदिर में जाकर शुद्ध घी के मोतीचूर के लड्डू चढ़ाए. इस लड्डू को तोड़ कर इसके अन्दर चिरोंजी, तुलसी और चना मिला दे. अब इस प्रसाद को घर के सभी लोगो को खिला दे. घर में कभी लड़ाई नहीं होगी.

5. घर के अन्दर सत्यनारायण जी की कथा कराए. इस कथा के होने से घर के अन्दर सकारात्मक माहोल बनेगा और साथ ही कथा की बजह से घर के सभी सदस्य एक दुसरे के करीब आ जाएंगे.

ये ख़ास तरह का केप्सूल कुछ ही दिनों में बना देगा आपकी स्किन दूध सी सफ़ेद

इस दुनियां में शायद ही कोई व्यक्ति होगा जो अपनी स्किन को गौरा नहीं बनाना चाहेगा. यहाँ तक कि गौरे लोगो को भी ये डर सताता रहता हैं कि कहीं उनकी गौरी स्किन काली ना हो जाए. इंसान के गौरा बनने की चाह के चलते आज बाजार में फेयरनेस प्रोडक्ट्स की बाढ़ सी आ गई हैं. क्रीम, फेसवाश, साबुन और भी ना जाने क्या क्या. ये सभी प्रोडक्ट आपकी स्किन को गौरा बनाने का दावा करते हैं. लेकिन सच तो ये हैं कि इनमे से आधे प्रोडक्ट बकवास होते हैं और उनका कोई रिजल्ट नहीं दिखता हैं. वहीँ जो प्रोडक्ट काम करते हैं वो हद से ज्यादा महंगे होते हैं और उनका डेली इस्तेमाल करना एक आम आदमी की जेब पर बहुत भारी पड़ता हैं.

तो अब सवाल ये उठता हैं कि कम पैसो में स्किन को सेफ तरीके से गौर कैसे बनाया जाए? इस सवाल का जवाब और तरीका दोनों ही बहुत सिंपल हैं. दोस्तों किसी भी स्किन को गौर बनाने के लिए आपकी स्किन का हैल्दी होना बहुत आवश्यक होता हैं. स्किन को हैल्दी बनाने के दो तरीके होते हैं. पहला आप अपने खाने पीने की डाईट को हैल्दी रखे और दूसरा स्किन की आवश्यकता के अनुसार सही प्रोडक्ट या तत्वों का उपयोग करे.

आज हम आपको दो ऐसी सस्ती चीजों के बारे में बताएंगे जो ना सिर्फ आपको स्किन को हैल्दी बनाए रखेगी बल्कि उसे कुछ ही दिनों में गौरा भी कर देगी. अपनी स्किन को गौर करने के लिए आपको एक ख़ास तरह का केप्सूल चाहिए होगा. इस ख़ास केप्सूल का नाम हैं ‘विटामिन ई के केप्सूल’ यह आपको किसी भी दुकान या मेडिकल स्टोर पर बड़ी आसानी से मिल जाएगा.

केप्सूल के अलावा दूसरी सामग्री में आपको चाहिए होगा नारियल का तेल.

अब आपको करना सिर्फ इतना हैं कि इन केप्सूल को काट के इनके अन्दर का तेल नारियल के तेल में मिक्स कर देना हैं. आप चाहे तो विटामिन ई के केप्सूल की जगह विटामिन ई का आयल भी इस्तेमाल कर सकते हैं. अब इस नारियल तेल और विटामिन ई आयल के मिश्रण को आप रात को सोने से पहले अपने चेहरे और शरीर पर लगा ले. इन्हें लगाते समय आपको अपनी स्किन की करीब 15 मिनट तक मालिश करनी हैं.

इस बात का ध्यान रहे कि आप ये आयल रात को ही अपनी स्किन पर लागाए. इसका कारण यह हैं कि रात में हमारी स्किन सबसे अधिक रिलेक्स रहती हैं. इस तरह ये तेल स्किन के रोम छिद्रों में अच्छे से चला जाता हैं और उसे हैल्दी बनाने में मदद करता हैं. आप इस प्रयोग को हफ्ते में 2 बार कर सकते हैं. इसका नियमति प्रयोग करने से आपकी स्किन कुछ ही दिनों के भीतर गौरी और हैल्दी हो जाएगी.

चावल का फेसमास्क सालों पुराने दाग-धब्बों को हफ्तेभर में दूर करता है

चाहे महिला हो या पुरुष हो, हर कोई चाहता है कि उसकी त्वचा साफ, ग्लोइंग और दाग-धब्बे मुक्त हो। लेकिन भागदौड़ और तनाव भरी जिंदगी के चलते ऐसा हो पाना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है। आजकल चेहरे पर सांवलापन और दाग धब्बे होना आम बात हो गई है। जिसके लिए बार-बार डॉक्टर या कॉस्मेटिक का ज्यादा प्रयोग करना नुकसानदेह हो सकता है। ऐसे में कुछ प्राकृतिक उपायों की मदद से इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको चावल का फेसमास्क सहित कुछ ऐसे होममेड फेस मास्क बता रहे हैं जिनके उपयोग से आप पुराने से पुराने दाग धब्बों से भी छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं क्या हैं वो उपाय—

चावल का फेसमास्क प्रयोग का तरीका :-
चावल का मास्क चेहरे के लिए बहुत उपयोगी होता है। ये टैनिंग दूर करने के साथ ही दाग धब्बों से भी छुटकारा दिलाता है। इसे लगाने के लिए कच्चे चावल को अच्छी तरह पीस लें। इसके बाद इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर अच्छी तरह लगाएं। 20 से 25 मिनट तक इस मास्क को सूखने दें। धोते वक्त चेहरे पर हल्की हल्की मसाज करें। कुछ दिन तक ऐसा करने के बाद आप देखेंगे कि आपको दाग-धब्बों से छुटकारा मिल रहा है। इसके अलावा आप चावल के पेस्ट को तरबूज के रस में मिलाकर भी लगा सकते हैं।

चावल का फेसमास्क के साथ नींबू का जादू :-
चेहरे के दाग-धब्बे वाले हिस्से पर नींबू का लेप बहुत लाभकारी होता है। इस लेप को लगाकर करीब 30 मिनट तक रहने दें। उसके बाद साफ पानी से चेहरे को धो लें। नींबू का रस चेहरे के दाग-धब्बों को हटाने में मदद करता है। हफ्ते भर तक ऐसा करने पर असर आपको खुद दिखेगा। नींबू के रस से त्वचा शुष्क हो सकती है लेकिन शहद से त्वचा को मॉशचरराइजर मिलता है जो त्वचा को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है। इसलिए आप शहद भी मिला सकता है।

चावल का फेसमास्क ही नही स्‍ट्राबेरी भी है कमाल :-
स्ट्राबेरी व छिले हुए एप्रिकॉट भी चेहरे के लिए फायदेमंद साबित हुए हैं। इसे लगाने के लिए स्ट्राबेरी को अच्छी तरह मैश करके पेस्ट एक बना लें। अब इस पेस्ट को चेहरे के दाग-धब्बे या टैनिंग वाले हिस्से पर लगाएं। इस मिश्रण को नियमित रुप से चेहरे के स्पॉट वाली जगह पर लगाने से जल्द ही फायदा मिलता है। 15 से 20 मिनट के बाद इस पेस्ट को धोना ना भूलें।

चावल का फेसमास्क के अलावा जादू करें आलू :-
चेहरे के लिए आले के फायदे को भला कौन नहीं जानता होगा? आलू के टुकड़े को दाग वाले हिस्से पर लगाकर हल्का—हल्का रगड़ने से काफी फायदा मिलता है। इसके अलावा मैश आलू, नींबू का रस, दूध की थोड़ी मात्रा व शहद से बना मास्क भी आप लगा सकते हैं। इस पेस्ट से आपको बहुत जल्दी दाग-धब्बों से छुटकारा मिलेगा।
चावल का फेसमास्क बनाने और दाग धब्बों को हटाने की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से ही किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँचती है और हमको भी आपके लिए और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के समबन्ध में आपके कुछ सुझाव हों तो कृपया कमेण्ट के माध्यम से हमको सूचित जरूर करें ।

पूजा में 4 चीज़ गलती से भी ना करे प्रयोग मान सम्मान और धन सबकी होगी हानि

मिलावटी पूजन सामग्री से पूजा का भी फल नहीं मिलता है। भगवान को प्रसन्न करने के लिए हम नित्य पूजन करते हैं, लेकिन उसका फल हमें नहीं मिलता। पूजा तभी सफल होती है, जब पूजन सामग्री शुद्ध हो। पूजा-पाठ में दीप जलाने का विशेष महत्व होता है। इससे जहां देव प्रसन्न होते हैं, वहीं सकारात्मक ऊर्जा भी आती है।

दीप जलाने व हवन के लिए हमेशा शुद्ध देशी घी का ही प्रयोग करना चाहिए। मिलावटी या सस्ते देशी घी में भारी मात्रा में वनस्पति घी व घटिया तेल होता है, जो पूजन के उपयुक्त नहीं होता। ऐसे घी का उपयोग करना अशुभ होता है।

दीप जलाने के लिए हमेशा साफ कपास से बनी बाती का ही प्रयोग करना चाहिए। रुई से बनी बाती शुद्ध तो होती ही है, ऐसी बाती का दीपक पूजन में देर तक जलता है और बीच में बुझने का डर नहीं रहता। पूजन में दीपक का देर तक जलना शुभ होता है। दीपक जितनी देर तक जलता है, उससे सकारात्मक ऊर्जा फैलती है।

लेकिन आजकल बाजार में ऐसी बाती बेची जा रही है, जो सस्ती जरूर होती है, पर ये दीपक में या तो पूजन के बीच जलते-जलते बुझ जाती है या फिर बहुत तेजी से जलती रहती है। पूजा के बीच दीपक के बुझने से पूजा संपन्‍न नहीं मानी जाती और न ही पूजन का लाभ प्राप्त होता है।

धार्मिक मान्यता के अनुसार, पूजा-पाठ में बांस से बनी अगरबत्ती जलाने से बचना चाहिए, क्योंकि शास्त्रों में बांस जलाना वर्जित माना गया है। बांस केवल अंतिम क्रिया के दौरान ही जलाया जाता है। हवन करने से जहां मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, वहीं हवन से होने वाले धुएं से वातावरण में मौजूद हानिकारक कीटाणु भी नष्ट होते हैं।

हवन सफल हो, इसके लिए सामग्री का शुद्ध होना आवश्यक है। बाजार में आजकल सस्ती व खुली हुई हवन सामग्री उपलब्ध है, जिसे हम थोड़े से लालच के चलते खरीद लेते हैं। मिलावट की वजह से इसका धुआं लाभ के बजाय हानिकारक होता है।

हवन के लिए हमेशा शुद्ध हवन सामग्री का प्रयोग करना चाहिए। अशुद्ध सामग्री का प्रयोग करने से देवता नाराज होते हैं। पूजन में अगर लौंग का प्रयोग करते हें, तो लौंग के मुंह पर फूल के आकार जैसी आकृति पूरी होनी चाहिए और यह मोटी होनी चाहिए या सिकुड़ी या टूटी लौंग का प्रयोग करना स्वीकार नहीं होता।

सर्वाइकल से राहत पाने के लिये इधर उधर मत भटको ये पढ़ना

आजकल हर कोई अपने लाइफस्टाइल में बहुत व्यस्त है, जिसके चलते सेहत की तरफ लोग लापरवाह होते जा रहे हैं। सेहत से जुड़ी छोटी-मोटी परेशानियों को नजरअंदाज करने से ये बाद में बड़ी परेशानी का कारण बन सकती हैं। इन्हीं परेशानियों में से एक है सर्वाइकल यानि गर्दन का दर्द। यह बीमारी आजकल आम सुनने को मिल रही है। शुरू में अनदेखी करने पर बाद में यह दर्द बढ़ता जाता है और गर्दन से शुरू होकर कंधे से होता हुआ पैरों के अंगूठे तक पहुंच जाता है। इसके लिए सही समय पर डॉक्टरी इलाज करवाना बहुत जरूरी है, इसके अलावा कुछ घरेलू तरीकों से भी सर्वाइकल से राहत पाई जा सकती है।

सर्वाइकल के लिए तिल का तेल :-
तिल का तेल दर्द कम करने का बेहतरीन उपाय है। इस तेल को गुनगुना करके 10 मिनट के लिए गर्दन की मसाज करें। दिन में 3-4 बार इस प्रक्रिया को दोहराने से दर्द से राहत मिलेगी। मसाज हल्के हल्के हाथों से और सर्क्यूलर मोशन में करना ज्यादा लाभकारी रहता है । ज्यादा प्रेशर से दबाना उचित नही होता है ।

सर्वाइकल के लिए अदरक :-
सर्वाइकल स्पांडलाइटिस के लिए अदरक बहुत प्रभावशाली है। इसके इस्तेमाल से ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है, जिससे दर्द से राहत मिलती है। अदरक की चाय पीएं और अदरक के तेल से मसाज करें। अदरक को एक बहुत ही अच्छा दर्दनिवारक और शोथहर माना गया है ।

सर्वाइकल के लिए सेब का सिरका :-
कॉटन के सॉफ्ट कपड़े को सेब के सिरके में भिगोकर प्रभावित जगह पर लपेट लें। इसे कुछ देर तक इसी तरह रहने दें। यह प्रक्रिया दिन में दो बार दोहराएं। इसके अलावा नहाने के पानी में 1 कप एप्पल साइडर विनेगर डालकर नहाएं। इससे बहुत राहत मिलती है।

सर्वाइकल से राहत पाने के लिए कुछ सरल प्रयोगों की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से ही किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँचती है और हमको भी आपके लिए और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के समबन्ध में आपके कुछ सुझाव हों तो कृपया कमेण्ट के माध्यम से हमको जरूर सूचित करें ।

सालो से सोया पड़ा किस्मत भी चमका देता है काली मिर्च का ये शक्तिशाली उपाय

क्या आप जानते हैं कि काली मिर्च से जहां स्वास्थ्य तो सही रहता ही है वहीं कई तरह की बाधाओं से भी मुक्ति मिलती है. आइए जानते हैं काली मिर्च के ऐसे ही कुछ उपाय जिनसे आपका भाग्य बदल जाएगा.

1. ज्योतिष के अनुसार काली मिर्च को शनि ग्रह की कारक वस्तु माना गया है. शनि की साढ़े साती की स्थिति में काले कपड़े में थोड़ी सी काली मिर्च और कुछ पैसे दान करना चाहिए. इससे शनि का प्रकोप तुरंत ही शांत होगा.

2. अगर आप किसी भी तरह से शनि दोष से पीड़ित है तो भोजन करते समय कभी भी उपर से नमक या मिर्च नहीं लें वरन काला नमक और काली मिर्च का ही प्रयोग करें. इससे शनि का बुरा असर खत्म होगा.
3. अगर आपका काम बार-बार बिगड़ रहा हो तो इसके लिए भी एक बहुत ही आसान सा टोटका है. घर से बाहर निकलते समय मेन गेट पर काली मिर्च रखें और जाते समय इस पर पैर रख कर निकलें, आपका हर कार्य पूरा होगा. परन्तु ध्यान रखें कि काली मिर्च पर पैर रखने के बाद वापिस घर में नहीं आना है अन्यथा इसका उल्टा असर भी हो सकता है.

4. अगर आप काफी सारा धन कमाना चाहते हैं परन्तु परिस्थितियों तथा भाग्य के चलते नहीं कमा पा रहे हैं तो यह उपाय आपके लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद है. आपको सिर्फ इतना सा करना है कि शुक्ल पक्ष (चांदनी पक्ष) में काली मिर्च के पांच दाने लेकर अपने सिर पर से 7 बार उतार लें. इसके बाद किसी सुनसान चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में एक-एक दाना फेंक दे तथा पांचवे बचे काली मिर्च के दाने को आसमान की तरफ फेंक दें और बिना पीछे देखे या किसी से बात घर वापिस आ जाए. आपको जल्दी ही पैसा मिलेगा.

5. काली मिर्च के 7-8 दाने लेकर उसे घर के किसी कोने में दिए में रखकर जला दें. घर की समस्त नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाएगी.

6. 5 ग्राम हींग, 5 ग्राम कपूर तथा 5 ग्राम काली मिर्च को मिलाकर पाउडर बना लें और फिर उस चूर्ण की राई के दाने बराबर गोलियां बना लें. अब इन गोलियों को दो बराबर हिस्सों में बांट दें. एक हिस्से को सुबह और दूसरे हिस्से को शाम के समय घर में जलाएं. इस तरह लगातार तीन दिनों तक करने में घर को लगी बुरी नजर उतर जाती है और घर में किसी तरह की कोई बुरी शक्ति होती है तो वह भी चली जाती है.

पत्नी ने सुसाइड नोट में लिखा- 'मेरा पति मरने के बाद मुझे ना छुए', घटना जान कर उड़ जाएंगे होश

प्यार पाना और प्यार मिलना, दोनों में बहुत अंतर है. कईं बार लोग जिद् से अपना प्यार हासिल तो कर लेते हैं परन्तु कभी उनका दिल नहीं जीत पाते. कुछ ऐसा ही मामला हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ दिल्ली की एक युवती ने आत्महत्या कर अपनी जान दे दी. जानकारी के अनुसार उसकी शादी को चार साल हो चुके थे. लेकिन, पति का प्यार आज तक उसको नहीं मिल सका था. जिसके बाद उसने खुद को ख़तम करने की ठान ली और मौत को गले लगा लिया. मरने से पहले इस युवती ने अपनी निज़ी ज़िन्दगी को लेकर काफी सारे खुलासे किये जिन्हें पढ़ कर सभी रो दीये. चलिए जानते हैं आखिर पूरी ख़बर क्या है…

धूमधाम से हुई थी दोनों की शादी
जानकारी के अनुसार दिल्ली के शास्त्रीनगर में रहने वाले अतुल की शादी चार साल पहले निधि नामक लड़की से हुई थी. निधि के घर वालों ने अपनी बेटी की शादी में कोई कमी नहीं रखी थी. दोनों की शादी बहुत धूमधाम से संपन्न की गयी थी. लेकिन, शादी के चार साल के बाद भी अतुल ने निधि को बीवी का दर्जा नहीं दिया था. आये दिन उसके ससुराल वाले उसको प्रताड़ित करते रहते थे. लेकिन, निधि के घरवालों ने उनके इस मामले में दखल देना ठीक नहीं समझा. निधि के आखिरी ख़त के अनुसार उसके पति ने आज तक उससे शादी के बाद सम्बन्ध भी नहीं बनाये थे. यहाँ तक कि अतुल उससे अच्छे से बात करना भी ठीक नहीं समझता था. खूब शोहरत से शादी करने वाले उस माँ बाप को ये नहीं पता था कि वह अपनी बेटी को ससुराल नहीं बल्कि, मौत के करीब भेज रहे थे.

सुसाइड नोट ने रुला दिया सबको
मिली जानकारी के अनुसार निधि ने मरने से पहले एक सुसाइड लेटर लिखा था. उसने ये लेटर तीन पेज का लिखा था और इसमें अपने साथ बीती हर घटना का ज़िक्र भी किया था. साथ ही निधि ने वहां लिखा था कि, “शादी के बाद उसके पति ने कभी उसको हाथ तक नहीं लगाया था, और अब वह चाहती है कि उसके मरने के बाद भी उसका पति उसको  ना छूए”. निधि के लिखे इसे ख़त ने सभी लोगों को भावुक कर दिया. निधि की लिखी हर एक लाइन में बहुत सारा दुःख और दर्द भरा हुआ था. जिसको पढ़ कर कोई भी अपने आंसू ना रोक पाया.

ससुराल वाले करते थे प्रताड़ित
निधि के माँ बाप ने पुलिस को बताया कि उसके ससुराल वाले अक्सर उसको तंग किया करते थे. निधि की माँ को कैंसर था इसलिए सब उससे निधि की हालत के बारे में छुपा रखते थे. लेकिन, निधि से दिनों दिन हो रही प्रताड़ना सही नहीं जा रही थी. जिसके बाद उसने खुद को ख़त्म करने की सोच ली और अंत में उसने आत्महत्या कर के खुद को खत्म कर दिया. निधि के घरवालों के अनुसार उसके ससुराल वालों ने ही उसको मारा है. उनका कहना है कि ये सुसाइड नहीं बल्कि, मर्डर है. फ़िलहाल पुलिस ने निधि के ससुराल वालों को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है.

जाने कब तक हमारे देश की बहु बेटियों को ये सब सहना होगा. हम सबको जागरूक होने की बेहद आवश्कता है. वरना वो दिन दूर नहीं जब हमारे पास बस बेटे ही बेटे होंगे और बेटी एक भी नहीं.

अगर आपको infertility का प्रॉबल्म है तो स्पर्म क्वालिटी को बढ़ाने के लिए ट्राई करें 5 फल

क्या आप नपुंसकता के कारण पापा नहीं बन पा रहे हैं तो क्यों दूसरें चीजों के पीछे रूपया खर्च न करें, इन फलों को अपने डायट में शामिल करें और स्पर्म काउन्ट को बढ़ाने के साथ उसकी गतिशिलता को बढ़ाये।

केला- केले में जो ब्रोमिलेन होता है वह सेक्स हार्मोन को संचालित करके पुरूषों के कामोत्तेजना को बढ़ाते है। इससे स्पर्म का काउन्ट और गतिशिलता बढ़ती है।

गोज़ी बेरिज़- गोज़ी बेरिज़ ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर फ्री रैडिकल्स से स्पर्म को सुरक्षा प्रदान करता है। स्कॉरटम के तापमान को ठीक रखकर स्पर्म के हेल्थ को बेहतर रखने में सहायता करता है।

कटहल- आयुर्वेद के अनुसार कटहल खाने से स्पर्म की गतिशिलता बढ़ती है और नपुंसक लोगों के सीमेन की क्वालिटी बेहतर होती है। अगर किसी को लो लिबिडो, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, और प्रीमैच्युर इजाक्युलेशन का प्रॉबल्म है तो इसको खाने से सेक्स की इच्छा जागृत होती है।

अनार- अनार सूपरफूड है जो सीमेन यानि शुक्राणु के क्वालिटी और स्पर्म काउन्ट को बढ़ाने में मदद करता है। इसमें जो एन्टीऑक्सिडेंट्स होते हैं वह फ्री रैडिकल्स से लड़कर स्पर्म को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। इसके लिए आप अनार का जूस बनाकर पिये।

टमाटर- टमाटर में जो लाइकोपेन होता है वह स्पर्म का क्वालिटी, गतिशिलता और वोल्युम को बढ़ाता है। टमाटर में जो एन्टीऑक्सिडेंट होता है वह शरीर से फ्री रैडिकल को दूर करने में सहायता करता है।

सोने से पहले बस एक केले को उबाल के पियें और फिर जादू देखें..!! | Health Benefits with Banana

इंसानी शरीर को नींद की उतनी ही जरूरत है जितनी खाने पीने की.नींद का ना आना बीमारी का संकेत हो सकता है | इसलिए गहरी नींद में सोने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. लेकिन इसके लिए करना क्या चाहिए?

कई लोगों को नींद न आने की बड़ी समस्या होती है | जब तक वो सोने की कोशिश करते है तब तक सूर्य उदय हो जाता है| जब सब तरकीबें असफल को जाती है तो नींद की दवा खाने के इलावा कोई रास्ता नहीं होता |

लेकिन क्या आप को पता है के यह दवाइयां आप की सेहत को नुक्सान के सिवाए कुछ नहीं देती ? ये दवाइयां आप के लिए कुछ समय का हल हो सकती है , स्थाई हल नहीं |

नींद ना आने के कई कारण हो सकते है जेसे की चिंता , तनाव और या किसी बिमारी का होना जेसे ब्लड प्रेशर या फिर दर्द ,लेकिन आज हम आप को स्थाई और 100% प्रभावी बिना किसी नुक्सान का हल बताएँगे

आप भी सोच रहे होंगे कि चाय में केला डालकर कौन पीता है? पर शायद आपको पता नहीं होगा कि चैन की नींद पाने के लिए बहुत से लोग केले वाली चाय पीते हैं.

अगर आपको भी अच्छी नींद नहीं आती है और सोने के दौरान आप बीच-बीच में उठ बैठते हैं तो केले वाली चाय पीना आपके लिए बहुत फायदेमंद है

आंगन में लगाया है तुलसी का पौधा, ये करें तो होगी बरकत

बहुत से लोग घरों में तुलसी का पौधा लगाना शुभ मानते हैं. अगर आपने भी घर पर तुलसी का पौधा लगा रखा है तो कुछ बातों का खास ध्यान रखें ताकि परिवार में सकारात्मक और सुखद वातावरण बना रहे और सभी सदस्य स्वस्थ और प्रसन्न रहें.

रोज जलाएं तुलसी चौरे में दीपक
हर रोज तुलसी पूजन करना चाहिए, साथ ही हर शाम तुलसी के पास सरसों तेल वाला दीपक जलाकर रखें. ऐसी मान्यता है कि जो लोग शाम के समय तुलसी के पास दीपक जलाते हैं, उनके घर पर लक्ष्मी और गणेश की कृपा सदैव बनी रहती है.

तुलसी से दूर होते हैं वास्तुदोष

ऐसी मान्यता है कि तुलसी के पौधे की महज उपस्थिति-भर से कई प्रकार के वास्तु दोष खुद ही समाप्त हो जाते हैं और परिवार की आर्थिक स्थिति पर शुभ असर होता है.

तब न तोड़ें तुलसी के पत्ते
तुलसी के पत्ते कुछ खास दिनों में नहीं तोड़ने चाहिए, ये दिन हैं एकादशी, रविवार और सूर्य या चंद्र ग्रहण-काल. इन दिनों में और रात के समय तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए. बिना उपयोग तुलसी के पत्ते कभी नहीं तोड़ने चाहिए. ऐसा करने पर व्यक्ति को दोष लगता है.

नहीं लगती है बुरी नजर
तुलसी का पौधा होने से परिवार के सदस्यों पर बुरी नजर का असर नहीं होता है. नकारात्मक ऊर्जा सक्रिय नहीं हो पाती है, जिससे सकारात्मक ऊर्जा को बल मिलता है.

सूखा पौधा न रखें
यदि तुलसी का पौधा सूख जाता है तो तुरंत ही दूसरा पौधा लगा लेना चाहिए. सूखा हुआ तुलसी का पौधा घर में होना दुर्भाग्य ला सकता है. इसी वजह से घर के आंगन में हमेशा हरा-भरा तुलसी का पौधा ही लगाया जाना चाहिए. basil leaves good luck Home Prosperity
***